अयोध्या मामले पर फैसला नजदीक: खुफिया एजेंसी को खतरे की आशंका बढ़ाई जा रही सुरक्षा व्यवस्था

राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला जल्द आने के मद्देनजर अयोध्या में अतिरिक्त सुरक्षा बल तैनात की जा रही है। अयोध्या को हाई अलर्ट पर रखा गया हैऔर 10 अतिरिक्त कंपनियों को शहर में तैनात किया जा रहा है। जिला प्रशासन के अतिरिक्त बलों को ठहराने के लिए व्यवस्था करनी शुरू कर दी है। स्थानीय गेस्ट हाउस धर्मशाला स्कूल और कॉलेजों का इस्तेमाल सुरक्षाबलों को ठहराने के लिए किया जाएगा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा हम ड्रोन की मदद से दुर्गा पूजा और दशहरा के जुलूसो की निगरानी सुनिश्चित करेंगे और पूजा समिति से अनुरोध किया कि वह जुलूस के दौरान गुलाल का इस्तेमाल ना करें, वह इसकी जगह फूलों की पंखुड़ियों का उपयोग कर सकते हैं।

जिला पुलिस और स्थानीय खुफिया इकाइयों को निर्देश दिया गया है कि वह होटलों, गेस्ट हाउस, धर्मशाला लाज, और होमस्टे की जांच शुरू करें। वहां काम करने वाले लोगों के परिचय पत्र की जांच शुरू करें, यह खुफिया एजेंसी की ओर से दी गई खतरे की सूचना के मद्देनजर किया जा रहा है।

दुर्गा मूर्ति विसर्जन और दशहरा उत्सव सोमवार से शुरू होंगी और कई रामलीलाए महीने भर दिवाली तक जारी रहेंगे। राज्य सरकार की ओर से दिवाली की पूर्व संध्या पर आयोजित किए जा रहे तीन दिवसीय दीपोत्सव कार्यक्रम में भी भीड़ उमड़ने की संभावना है।

जैसा कि हम सब जानते हैं कि बहुचर्चित राम जन्मभूमि बाबरी मस्जिद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला नवंबर में आने की संभावना है। स्थानीय प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था में कोई कमी नहीं बरतना चाहता। इस बीच जिला प्रशासन सरयू नदी के प्रदूषण को रोकने के लिए देवी दुर्गा की मूर्तियों के भूमि विसर्जन की तैयारी कर रहा है। शहर के बाहरी इलाके में बड़े-बड़े गड्ढे खोदे जा रहे जहां मूर्तियों को विसर्जित किया जाएगा।

इसे भी पढ़े : –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *