हिन्दू समाज में विघटन डालने वाली शक्तियों के खिलाफ प्रारम्भ हो रहा यज्ञ: मोहन भागवत और अमित शाह भी होंगे शामिल

“धर्म की जय हो अधर्म का नाश हो” के उद्घोष के साथ हिंदू समाज के सभी मांगलिक कार्यक्रम होते हैं। यज्ञ हिंदू समाज का संसार को दिया गया वह दिव्य उपहार है जो वातावरण को शुद्ध रखने के साथ-साथ आत्मा का परमात्मा से मेल भी करवाता है। अब उसी यज्ञ का आयोजन हिंदू समाज में विघटन डालने वाली शक्तियों के खिलाफ किया जा रहा है और वह सपना अति शीघ्र साकार होने जा रहा है।

विश्व हिंदू परिषद के पूर्व नेता अशोक सिंघल राम मंदिर बनाने के लिए होने वाले आंदोलनों में प्रमुख भूमिका निभाते थे। अशोक सिंघल हिंदू समाज के सभी लोगों को भी एक मंच पर लाना चाहते थे। इसके लिए वे चतुर्वेद स्वाहाकार महायज्ञ भी करवाना चाहते थे। इसके लिए पूरी तैयारी भी कर ली गई थी लेकिन इस कार्यक्रम के होने के पूर्व ही उनका देहांत हो गया और सपना अधूरा रह गया। अशोक सिंघल पूरे हिंदू समुदाय को एक सूत्र में बांधने के हमेशा पक्षधर रहे जातियों में बांटने को हिंदू धर्म के लिए ही नहीं पूरे देश के लिए बेहद घातक मानते थे। इस यज्ञ में दुनिया के धर्मों के प्रतिनिधि शामिल होंगे यही कारण है कि वे सभी समुदाय के लोगों से विभिन्न कार्यक्रमों में संपर्क साधा करते थे।

उन्हीं के नाम पर बना संगठन अशोक सिंघल फाउंडेशन उनका सपना साकार करेगा। फाउंडेशन और विश्व हिंदू परिषद के सहयोग से यह चतुर्वेद स्वाहाकार महायज्ञ आगामी 9 अक्टूबर से दिल्ली में शुरू होगा। इस कार्यक्रम में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत और भारतीय जनता पार्टी अध्यक्ष और गृहमंत्री अमित शाह भी शामिल होंगे। इस कार्यक्रम का संपादन जगद्गुरु रामानुजाचार्य परमहंस परीव्राजकाचार्य की अगुवाई में होगा।

इसे भी पढ़े : –

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *