वायरल खबर: सेना का ये जवान रोज एटीएम से निकालता हैं 100 रुपये ताकी घरवालों को पता चले की वो सलामत हैं

दुनिया में बहुत सी अजीबोगरीब चीजें होती है, लेकिन भारतीय आर्मी के जांबाज सैनिक जो भी करते हैं उसके पीछे बहुत कुछ होता है। वह अपने हक पर ऐसे जीते हैं मानो आखरी हो उनका परिवार भी इसी डर के साए में जीता है कि पता नहीं कब दुश्मन की गोली उसके पति बेटे, पिता या भाई को शहीद ना कर दे। एक सैनिक की कहानी कुछ इसी प्रकार की जिसके बारे में आप लोग सोचने को मजबूर हो सकते हो कि आखिर एटीएम से एटीएम से 100 रू निकालने का क्या औचित्य।

“मेरे प्यार की उम्र हो इतनी सनम तेरे नाम पर शुरू तेरे नाम पर खत्म” गाने की यह लाइन इस आर्मी मैन पर सटीक बैठती है। इसकी प्रेम कहानी आप सबको प्यार के मायने समझा देगी, दरअसल आर्मी का एक जवान कश्मीर के बारामुला के पास के एटीएम से रोज सिर्फ ₹100 इसलिए निकालता है कि वह अपनी पत्नी को जिंदा रहने का संदेश दे सके।

  • जवान जम्मू कश्मीर में आर्टिकल 370 लगने के बाद से ही एटीएम से ₹100 निकाल रहा है
  • जवान को लेकर लिखा गया आर्टिकल फेसबुक सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ
    इस कहानी को एटीएम गार्ड ने नीतीश पाठक को बताई और नीतीश पाठक ने पेज पर पोस्ट की और गार्ड ने

गाइड के अनुसार – मैं रोज एक आर्मी जवान को एटीएम पर आता देखता था। वह रोज एटीएम से सिर्फ ₹100 ही निकालते थे और फिर उसे बहुत ही संभाल कर अपने पर्स में रखते थे। ऐसा कई दिनों तक चला गार्ड ने कई बार पूछना चाहा पर हिम्मत नहीं जुटा पाया। फिर भी आखिर एक दिन पूछ ही लिया कि साहब आप सिर्फ ₹100 ही क्यों निकालते ज्यादा निकाल लिया करो, ताकि आपके पास हफ्ते भर का खर्चा हो जाए। तो वह रुके और अपने माथे पर हाथ फेरा अपना ट्राउजर ठीक करते हुए बताया, मेरे इस अकाउंट से मेरी पत्नी का नंबर लिंक है। जब मैं पैसे निकालता हूं तो उसके पास मैसेज जाता है जिससे उसे यह पता चले कि “मैं ठीक हूं ओर जिंदा हूं”

हम सोचे तो कैसा होता होगा जब मैसेज जिसके पास आते ही पता चलता है कि आपका अपना जिंदा है। अगर किसी दिन वह मैसेज किसी भी वजह से ना आ पाए तो इंतजार कितना ठेस पहुंचाता होगा। वाकई देश का जवान सरहद पर खड़ा हर जवान अपनों से दूर हमारी सेवा में लगा रहता है और वह अपनों की खोज खबर भी नहीं दे पाते हैं। महीनों वह अपने परिजनों से फोन पर बात भी नहीं कर पाते हैं। आज जवान सीमा पर तैनात है इसीलिए हम अपने घरों में चैन से सो पाते हैं। हम सभी देशवासी अपने जवानों के लिए नतमस्तक हैं।

इसे भी पढ़े : –

Leave a Comment