कभी किया था सुशांत-अमिताभ जैसे दिग्गज कलाकारों के साथ काम, अब मोमोस बेच कर रही गुजारा

कोरोना महामारी के दौरान लगे लॉकडाउन के कारण कई बड़े व्यापार पूरी तरह बंद हो गए। जिसके कारण उस व्यापार से जुड़े लाखों लोगों को बेरोजगारी की मार झेलनी पड़ी थी। जिसका असर आज भी दिखाई दे रहा है। कोरोना महामारी को एक साल पूरा हो गया है। लेकिन हालात अभी भी पहले जैसे नॉर्मल नहीं है। अभी भी कई व्यापार तो ऐसे हैं जो चालू नहीं हो पाए हैं।

suchi-with-sushant

जिसके कारण जो लोग उनसे जुड़े थे। वे आज भी बेरोजगारी की जिंदगी जी रहे हैं। और छोटा मोटा काम करके अपना जीवन जीने को मजबूर हैं। आज हम एक ऐसी ही एक कलाकार की बात करने जा रहे हैं। जो कभी बॉलीवुड इंडस्ट्री का हिस्सा थी। लेकिन कोरोना महामारी के बाद उनकी जिंदगी ही बदल गई। और आज वे मोमोस बैचने को मजबूर हैं। बता दें कि कोरोना का असर बॉलीवुड इंडस्ट्री पर भी पड़ा था।

महामारी ने बदल दी जिंदगी

Suchismita Routray

जिसके कारण इंडस्ट्री में काम करने वाले कई लोग बेरोजगार हो गए। क्योंकि इस दौरान उन्हें काम मिलना बंद हो गया। मजबूरन उन्हें अपना काम छोड़ दूसरा काम देखना पड़ा। और आज भी कई लोग ऐसे हैं। जो बापस नहीं लौटे और अपना खुद का छोटा मोटा काम कर रहे हैं। ऐसा ही एक नाम आता है बॉलीवुड की फीमेल कैमरापर्सन सुचिष्मिता रोत्रेय का जो कभी बॉलीवुड के दिग्गज कलाकारों के साथ काम किया करती थी।

कई बड़े कलाकारों के साथ किया काम

Suchismita Routray with amitabh

लेकिन कोरोना महामारी ने उनकी पूरी लाइफ को बदल कर रख दिया और आज वे बॉलीवुड से दूर अपनी रोजी रोटी चलाने के लिए मोमोज बैच रही है। सुचिष्मिता ने बॉलीवुड में रहते हुए कई बड़े कलाकारों के साथ काम किया। जिनमें सुशांत सिंह राजपूत, अमिताभ बच्चन, वरुण धवन और आलिया भट्ट जैसे कई सितारे मौजूद है। लेकिन सुचिष्मिता ने कभी नहीं सोचा होगा कि उनकी जिंदगी इस तरह मोड़ लेगी जिन हाथों में कभी कैमरा हुआ करता था। आज उन्ही हाथों से वे मोमोज बना रही है।

मोमोज से कमाती है 300-400 रुपए

suchismita routray cuttack

बता दें कि इस कलाकार ने मायानगरी को छोड़ने के बाद ओडिशा में अपना खुद का मोमोज का काम चालू किया है। जिससे वे अपना गुजारा कर रही हैं। वे बताती है कि इस काम से उन्हें एक दिन में 300-400 रुपये की कमाई करती हैं। अपने जीवन से जुड़ी बातों को एक इंटरव्यू के माध्यम से सुचिष्मिता ने बताया, वे बताती है कि उन्होंने अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद ओडिया साइन इंडस्ट्री में काम करना चालू कर दिया।

2015 में आई थी मुम्बई

Suchismita Routray twitter

इसके बाद उन्होंने अपने इस काम को बड़ा रूप देने के लिए मायानगरी मुम्बई की और अपना रुख कर लिया और 2015 में मुंबई आ गई। शुरुआत में उन्हें छोटे काम मिलना चालू हो गए। फिर अपनी मेहनत और काबिलियत के चलते 6 साल तक वो असिस्टेंट कैमरा पर्सन के रुप में काम करती रहीं। लेकिन कोरोना ने इस कलाकार की पूरी जिंदगी बदल कर रख दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *