Categories: बॉलीवुड

कंगना रनौत ने सुशांत सिंह का जिक्र करते हुए बड़े “मीडिया पोर्टल” को बंद करने की मांग की!

बॉलीवुड ‘क्वीन’ कंगना रणौत को इंडस्ट्री में उनकी अदाकारी से ज्यादा उनकी बेबाकी के लिए भी जाना जाता है। बता दें कि कंगना फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े किसी ना किसी मुद्दे पर चर्चाओं में बनी रहती है। जहां कुछ समय पहले तक अभिनेत्री ने सुशांत सिंह निधन मामले में खुलकर अपना समर्थन किया था। जिसको लेकर भी वे खासी चर्चाओं में रही थी। वहीं वे इस दौरान महाराष्ट्र सरकार से भी टकराई थी।

जिसके बाद अब एक बार फिर कंगना ने एक बड़े मुद्दे पर बीते शुक्रवार को अपने ट्विटर एकाउंट से एक ट्वीट किया जिसके बाद वे एक बार फिर से चर्चाओं में आ गई है। दरअसल, कंगना ने अपने ट्विटर एकाउंट के माध्यम से ब्लाइंड आइटम को बैन करनी की मांग रखी है। और इस दौरान उन्होंने एक बार फिर दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का भी जिक्र किया है।

निजी जीवन को बताता है

आपको बता दें कि ब्लाइंड आइटम एक एंटरटेनमेंट पोर्टल है जो एक अभिनेता के निजी जीवन से जुड़ा हुआ होता है। जिसके कारण कंगना ने इसे बंद करने की मांग की है और इसे गलत बताते हुए इस पर आपत्ति जताई है। इस मामले में कंगना रनौत ने केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से मदद भी माँगी। सहायता माँगते हुए कंगना रनौत ने लिखा है ,” आदरणीय प्रकाश जावड़ेकर सर, हमें आपकी सहायता की जरूरत है। ताकि हम बॉलीवुड की गटर को साफ कर सकें।

इस तरह के ब्लाइंड आइटम किसी भी मानहानि के मामले में नही शामिल होते। हम इससे लड़ नही सकते इसलिए कलाकार नशे और डिप्रेशन का शिकार होते हैं।”

आगे वे कहती है, “कृपया ब्लाइंड आइटम पर रोक लगा कर सहायता करें। यह ऑनलाइन लीचिंग है। हमने अभी ही एक युवा प्रतिभा को खोया है, जिसे इस प्रकार ट्रोलिंग और प्रताड़ना का शिकार होना पड़ा था। लेकिन अब भी इसमें न कोई सुधार है न ही रोक है। लोगो अभी भी इस तरह की गलत खबरे छाप रहे हैं,जिसके कारण हमय सार्वजनिक जीवन मे शर्मिंदगी एवम तनाव सहना पड़ता है। कृपया सहायता करें।”

इसके आगे कंगना ने लिखा है कि,” लोग अभी भी ब्लाइंड आइटम लिख रहे हैं। बिना सही खबर की जांच किये, बिना सूत्र के ,बिना सोर्स का नाम जाने । यह बहुत ही खतरनाक है। सुशांत ने यह जिक्र किया था कि वे ब्लाइंड आइटम के कारण भी डिप्रेशन का शिकार हुए थे। इस तरह के मीडिया हाउस के खिलाफ कड़ी करवाई की जानी चाहिए ,यह चरित्र हनन का मामला है।”

Leave a Comment