Categories: बॉलीवुड

अंबानी की शादी में बिग बी ने हाथों से खिलाया खाना, लेकिन रिश्तेदार की मदद करने में रहे पीछे

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन अपनी अदाकारी के साथ अरबों रुपये की संपत्ति के मालिक भी है। बता दें कि बिग बी सोनी टीवी के शो केबीसी को होस्ट करने के लिए करोड़ो रूपये चार्ज करते हैं। तो वहीं वे फिल्मों में भी अपनी एक्टिंग का जलवा दिखाने के लिए करोड़ों रुपये फीस लेते हैं। लेकिन क्या आपको पता है बिग बी के एक करीबी रिश्तेदार दो टाइम की रोटी के लिए भी मोहताज है।

अक्सर देखने में आता है कि यदि कोई घर का सदस्य अच्छे मुकाम पर हो तो उसके सहारे दूसरे भी रिश्तेदार अच्छी राह पर चलने लगते हैं लेकिन बॉलीवुड में सबसे बड़े चेहरे होने के बाद भी बिग बी अपने रिश्तेदारों को सानो शौकत नहीं दिला पाए। आइए जानते है क्या है पूरा मामला

दरअसल, अमिताभ बच्चन के पिता की एक बड़ी बहन थी जिनका नाम भगवानदयायी था। भगवानदीन के बेटे रामचंद्र के चार बेटे हैं। जिम में तीसरे नंबर के बेटे अनूप को आर्थिक तंगी का शिकार होना पड़ रहा है। बॉलीवुड के इतने बड़े नाम के साथ अपना नाम जुड़े होने के बावजूद भी इस परिवार को आर्थिक तंगी झेलने पर मजबूर होना पड़ रहा है। और पूरा परिवार 2 वक्त का खाना भी नहीं जुटा पा रहा है।बता दें कि घर चलाने के लिए अनूप एक विद्युत फिटर के रूप में काम करते हैं यही उनके परिवार का पेट भरने का एकमात्र स्रोत है। अनूप के दो बच्चे हैं जिनमे एक लड़की और एक लड़का है।

अभिषेक की शादी में भी नहीं हुए शामिल

एक इंटरव्यू में अनूप की पत्नी मृदुला ने बताया कि पैसे की कमी के कारण, वे अभिषेक बच्चन की शादी में शामिल नहीं हुईं। उन्हें यह भी डर है कि बच्चन परिवार उन्हें पहचानने से इंकार कर सकता है। अनूप और मृदुला कटघर में डॉ हरिवंश राय बच्चन के पैतृक घर में रहते हैं।

जैसा कि घर पैतृक संपत्ति के अंतर्गत आता है इसलिए इसने अमिताभ और अनूप के बीच कुछ विवाद पैदा कर दिया। विवाद इसलिए खड़ा हुआ क्योंकि अनूप चाहते थे कि अमिताभ हरिवंश राय बच्चन की यादों को हमेशा के लिए सुरक्षित रखने के लिए घर को संग्रहालय में बदल दें, जिससे अमिताभ ने इनकार कर दिया। अमिताभ बच्चन चाहे तो आर्थिक तंगी से जूझ रहे इस परिवार का पल भर में ही उद्धार कर सकते हैं।

करोड़ों लोगों की प्रेरणा बनने वाले अमिताभ बच्चन अपने ही रिश्तेदारों के लिए कुछ नहीं कर रहे हैं जिसके कारण उन्हें आर्थिक तंगी का शिकार होना पड़ रहा है।

*We Naver Claim the Truths About Our Article. हम कभी भी पोस्ट के सत्य होने का दावा नहीं करते।

Leave a Comment