गोविंदा को जन्म देने से पहले ही उनकी मां बन गई थी साध्वी, पिता ने गोद में लेने से भी कर दिया था इनकार!

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता गोविंदा को आज शायद ही कोई होगा जो नहीं जानता हो 80 और 90 के दशक से हिंदी सिनेमा में अपनी अदाकारी का जलवा दिखा रहे हैं। गोविंदा ने बॉलीवुड की कई बड़ी हिट फिल्मों में काम किया है। और अपनी अदाकारी के साथ डांस से भी सभी का खूब दिल जीता। हालांकि अभिनेता अभी काफी समय से फिल्मों से दूर है। लेकिन वे कोई भी मौका ऐसा नहीं छोड़ते हैं।

Govinda family photo

जब भी उन्हें अदाकारी दिखाने का मौका मिलता है तो वो आज भी 90 के दशक के कलाकार बन जाते हैं। आज गोविंदा की बॉलीवुड में अपनी अलग ही पहचान है। लेकिन उनके साथ भी जीवन कई घटनाएं ऐसी घटी है जिनसे आज भी सभी अंजान है। तो चलो आज इस बात से आपको रूबरू करवाते हैं। दरअसल, आज बॉलीवुड में अपनी अदाकारी से बुलंदियों को छूने वाले गोविंदा के जीवन में एक समय ऐसा भी आया था। जब उनके पिता ने उन्हें गोद में लेने से भी मना कर दिया था, इस बात का खुलासा खुद गोविंदा ने एक इंटरव्यू में किया था।

पिता ने गोद में लेने से भी कर दिया था इनकार

govinda father Arun Kumar Ahuja

बता दें कि मशहूर अभिनेता गोविंदा का जन्म 21 दिसंबर 1963 को महाराष्ट्र के विरार में हुआ था, गोविंदा की मां का नाम निर्मला देवी और पिता का नाम अरुण आहूजा है। गोविंदा ने एक इंटरव्यू में बताया था कि जब वो पैदा हुए तो उनके पिता ने उन्हें गोद में लेने और छूने तक से मना कर दिया था।

जन्म से पहले ही मां बन गई थी साध्वी

Govinda mother actress and singer Nirmala Devi

गोविंदा के अनुसार जब वो अपनी मां के कोख में थे, तो उनकी मां साध्वी बन गई थी। भले वो पति के साथ थीं, लेकिन जीवन साध्वी वाला जीने लगी थीं। साध्वी बनने के कुछ महीने बाद गोविंदा का जन्म हुआ। जब गोविंदा पैदा हुए, तो पिता ने उन्हें छूने से मना कर दिया। दरअसल उन्हें लगता था कि गोविंदा के कारण ही उनकी पत्नी साध्वी बन गई।

गोविंदा पर एक्टिंग की धुन सवार थीं

Actor Govinda Ahuja

लेकिन बेटे से एक पिता कितना नाराज हो सकता है। ऐसा ही गोविंदा के साथ भी हुआ। जब घर वालों के समझाने के बाद गोविंदा के लिए पिता अरूण ने उन्हें बेटे जैसा प्यार दिया। धीरे-धीरे दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने लगी। और दोनों एक दूसरे के बेहद करीब आ गए। बता दें कि गोविंदा की मां उन्हें बहुत प्यार करती थी, वो चाहती थी कि बेटा बैंकर बने, हालांकि गोविंदा को एक्टिंग की धुन सवार थी, पिता ने उन्हें एक्टर बनने में काफी मदद की थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *