35 साल बाद घर में जन्म हुआ बेटी का तो मात्र 40 किमी दूर हेलीकॉप्टर से लेने पहुंचे दादा पोती को!

बेटी जिसे सभी लक्ष्मी का अवतार मानते हैं लेकिन इसके बाद भी कई लोग ऐसे हैं जो तेजी से बदलते इस दौर में भी लड़के और लड़की के बीच अंतर समझते हैं। बहुत से लोग तो ऐसे होते हैं जो लड़की के जन्म लेने पर काफी ज्यादा निराश नजर आते हैं। उन्हें ऐसा लगता है कि घर में लड़की पैदा होना मानो एक बोझ हो।

Grand Daughter in Helicopter 3

जबकि ऐसा नहीं है तेजी से बदलते समय में समाज में भी काफी ज्यादा परिवर्तन देखने को मिल रहा है, और आज बहुत से लोग ऐसे हैं जो आज लड़कों से ज्यादा अहमियत लड़कियों को दे रहे हैं। आज देखने में आता है कि लड़कियां किसी भी चीज में लड़कों से कभी पीछे नहीं रही है। उन्होंने हर एक मोड़ पर साबित किया है कि वे भी किसी से कम नहीं है।

लड़कियां लड़कों से कम नहीं

वे भी आज वे सभी काम कर सकती है जो एक लड़का कर सकता है। आज हर एक कठिन मोड़ पर बेटियों ने देश का नाम रोशन किया है ऐसे कई उदाहरण मौजूद है जिन्हें देखा जाए तो हमें खुद पर नाज और गर्व होगा। आज हम एक ऐसी ही खबर से आपको रूबरू करवा रहे हैं जहां घर में 35 साल बाद जन्मी एक बेटी को लेने के लिए दादा हेलीकॉप्टर लेकर पहुंच गए।

Grand Daughter in Helicopter 1

दादा ने बेटी की जन्म की खबर सुनते ही सबसे पहके अपनी फसल बेची और बेटी को लेने हेलीकॉप्टर से पहुंच गए। घर में इतने सालों के बाद बेटी पैदा होने की खुशी दादा को इतनी ज्यादा थी कि दादा की खुशी का ठिकाना ही नहीं रहा और वह हेलीकॉप्टर से अपनी पोती को लेने पहुंच गए। क्या पूरा मामला राजस्थान के नागौर जिले के निंबड़ी चांदवता गांव का है।

Grand Daughter in Helicopter 2

जहां के रहने वाले एक किसान ने के घर 35 साल बात बेटी ने जन्म लिया। इस बात की खबर बेटी के दादा मदन लाल प्रजापत को लगी टी वे सीधे किराए पर हेलीकॉप्टर बुक करने पहुंच गए। और हेलीकॉप्टर से नवजात को उसके ननिहाल से अपने घर लेकर आए। हालांकि इसके लिए उन्हें काफी मोटी रकम खर्च करना पड़ा लेकिन दादा को उनकी कोई टेंशन नहीं, उन्हें तो बस बेटी की खुशी चाहिए थी।

बता देगी इसके लिए उन्होंने पहले से ही इंतजाम कर रखे थे और दादा खुद हेलीकॉप्टर में बैठकर बेटी को लेने 40 किलोमीटर दूर पहुंचे। और वहां से बेटी को लेकर वापस घर आए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *