मैरीकॉम ने एक और कीर्तिमान से रचा इतिहास, विश्व चैंपियनशिप में 8 पदक जीतकर अपने ही कीर्तिमान को तोडा

उलान उदे : मेरी काम का विश्व चैंपियन में आठवां पदक पक्का, तीन अन्य सेमीफाइनल. पहली बार खेल रही मंजू रानी (४८ किलो) पिछले सत्र की कांस्य पदक विजेता और तीसरी वरीयता प्राप्त लवलीना बोरगोहेन (६९ किलो) और जमुना बोरो (५४ किलो ) 20 सेमी फाइनल में पहुंच गई.

भारत की सुपर स्टार महिला मुक्केबाज MC मैरी कॉम (५१ किलो) रूस के उलान उदे में चल रही आईबा महिला विश्व मुक्केबाजी चैंपियनशिप में गुरुवार को क्वार्टर फाइनल मुकाबले में कोलंबिया की लोरेना विक्टोरिया वैलेंसिया को ५-० से हराकर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया और इसके साथ ही उन्होंने इस प्रतियोगिता के इतिहास में अपना रिकॉर्ड आठवां पदक भी सुनिश्चित कर लिया. मेरी काम के अलावा भारतीय मुक्केबाजी में मंजू रानी (48 किग्रा), जमुना बोरो (54 किग्रा) और लवलीना बोरगोहेन ने (69 किग्रा) के सेमीफाइनल में पहुंचकर भारत के लिए कुल 4 पदक पक्के कर दिये हैं. लेकिन 81 किग्रा से अधिक के वर्ग में कविता को हार का सामना करना पड़ा. मेरी काम ने सेमीफाइनल में जगह बना कर कांस्य पदक पक्का किया है. अगर वह आगे के मुकाबले जीत जाती है, तो उनका यह कांस्य पदक आगे रजत या स्वर्ण पदक में बदल सकता है.

तुर्की की बाक्सर से भिडेंगी

मेरी का सेमीफाइनल में दूसरी सीड तुर्की की बुसेनाज काकी रोगलू से शनिवार को मुकाबला होगा. ओलंपिक पदक विजेता मेरी ने अब तक विश्व चैंपियनशिप में 6 स्वर्ण और एक रजत पदक जीता है. 6 बार की विश्व चैंपियन मेरीकॉम को पहले राउंड में बाई मिली थी. अपने आठवीं खिताब की तलाश में लगी 3 बच्चों की मां मेरी ने क्वार्टर फाइनल में वैलेंसिया को 5-0 से पीटा साथ ही उनका विश्व चैंपियनशिप में आठवां स्वर्ण पदक पक्का है. चैंपियनशिप इतिहास में मैरीकॉम इस तरह सबसे कामयाब खिलाड़ी बन गई.

मंजू ने टॉप सीड टीम को हराया

वही छठी सीड मंजू ने 48 किग्रा में टॉप सीट कोरिया को किम व्यंग मी को 4-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई. जमुना ने 56 किग्रा वर्ग में जर्मनी की उर्सुला गोट लोब को 4-1 से और तीसरी सीड लवलीना ने 69 किग्रा मैं छठी सीड पोलैंड की कैरोलिना को 4-1 से पराजित कर सेमीफाइनल में स्थान पक्का किया.

शायद आप पसंद करें :

Leave a Comment