20.7 C
India
Saturday, November 27, 2021

आर्यन खान मामले में गवाह ने किया चौंकाने वाला बड़ा खुलासा, कहां समीर वानखेड़े ने मांगे थे 8 करोड रुपए?

बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से ही एक के बाद एक कई राज सफेद पाउडर मामले में खुलते हुए नजर आ रहे हैं बता दें कि आर्यन खान की गिरफ्तारी के बाद से ही नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की छवि काफी साफ-सुथरी दिखाई दे रही है और सभी तरफ उनकी तारीफ चल रही है इतना ही नहीं उन्होंने अब तक कई जगह छापेमारी करते हुए। कई पेडलरों को गिरफ्तार किया है। इतना ही नहीं बॉलीवुड अभिनेत्री अनन्या पांडे भी एनसीबी की रडार पर है और उनसे दो बार पूछताछ की जा चुकी है सोमवार को ने तीसरी बार फिर पेश होना है।

- Advertisement -

NCB Sameer Wankhede

लेकिन अब इस मामले में नया मोड़ सामने आ गया है जिसमें एनसीबी पर ही इल्जाम लगते हुए नजर आ रहे हैं। बता दें कि जिस गवाह ने बड़ा खुलासा किया है उसका कहना है कि इस मामले में करोड़ों रुपए की हेराफेरी हुई है इतना ही नहीं नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के जोनल अधिकारी समीर वानखेड़े इस मामले में 8 करोड रुपए लेने वाले थे। यह बात सामने आने के बाद से ही अब सभी काफी ज्यादा हैरान है। व्यक्ति का नाम प्रभाकर राघोजी सैल है जो पिछले 22 जुलाई 2021 से किरण गोसावी का बॉडीगार्ड के रूप में कार्य कर रहा है।

sk govasai aryan khan

इनमें किरण गोसावी वह व्यक्ति है जिसे जो क्रूज़ रेप पार्टी के दौरान आर्यन खान की गिरफ्तारी हुई थी उसके बाद में एनसीबी दफ्तर लेकर पहुंचे थे। बताया जाता है कि किरण गोसावी मैं खुद पंचनामें पर भी हस्ताक्षर करने वाला भी हैं। प्रभाकर के बयान के बाद अब यह मामला और ज्यादा उलझता जा रहा है। गवाह ने बताया कि शनिवार 2 अक्टूबर की रात नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो की टीम द्वारा क्रूज पर चल रही रेव पार्टी में दबिश दी थी। इस दौरान बो खुद किरण गोसावी के साथ में वहां मौजूद था।

aryan khan in custody

प्रभाकर ने आगे पूरे मामले के बताते हुए कहा कि उन्हें गोसावी द्वारा तकरीबन रात 10.30 बजे बुलाया गया था। जिसके बाद वे वहां पहुंचे और इस दौरान ही उन्होंने एक केबिन में आर्यन और उनके साथ पकड़ी गई मुनमुन धमेचा को देखा। के बाद एनसीबी के अधिकारियों द्वारा पूछताछ कि कार्रवाई को अंजाम दिया गया और सभी को गिरफ्तार किया गया। जिसके बाद तकरीबन रात 12:30 बजे गोसावी एनसीबी के साथ एक सफेद रंग की इंनोवा कार में आर्यन खान को लेकर एनसीबी ऑफिस पहुंचा।

गवाह ने आगे बताया कि बाद में गोसावी ने उन्हें पंचनामे के लिए भी कहा था। इतना ही नहीं उन्होंने आगे बढ़ा खुलासा करते हुए बताया कि समीर वानखेड़े के कहने पर एक अधिकारी से 10 ब्लेंक पेपर्स बुलवाए गए। ताकि पूरे मामले का पंचनामा बनाया जा सके। इतना ही नहीं प्रभाकर ने ये भी बताया कि ब्लेंक पेपर्स उनसे भी हस्ताक्षर करा लिए गए थे। साथ ही उनके आधार कार्ड की डिटेल्स भी ले ली इस मामले में गवाह ने और भी कई चौकाने वाले राज खोले हैं। प्रभाकर ने आगे बताया कि यहां पूरी डील 25 करोड़ में तय हुई थी। लेकिन बाद में इसे 18 करोड़ में बदला गया जिसमें 8 करोड समीर वानखेड़े यह पूरी बात गोसावी ने फोन पर सैम डीसूजा नाम के व्यक्ति से कही थी।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

112,451FansLike
1,152FollowersFollow
13FollowersFollow

Latest Articles

error: Content is protected !!