Categories: बॉलीवुड

सुशांत सिंह: 34 साल का मेहनती जो सेट पर सोता, 1 फिल्म के लिए छोड़ी सारी फिल्म

सुशांत सिंह राजपूत 34 साल की उम्र में ही परिवार का और अपने चाहने वालो का साथ छोड़ गए। लेकिन वो सभी के दिलो में सदा रहेंगे। इतनी कम उम्र में अपनी मेहनत से सफलता के शिखर पर पहुंचने वाले शायद बॉलीवुड के वे पहले हीरो रहे। इतनी कम उम्र में ही सुशांत के कई सपने थे जिन्हे वो पूरा करने की राह पर निकल चुके थे और सफल भी हो रहे थे। लेकिन कुछ लोगो से ये देखा नहीं गया।

सुशांत ने अचानक ऐसा कदम क्यों उठाया या उनके साथ कुछ गलत हुआ ये हम तो नहीं कह सकते। लेकिन हमे आपको ये बताते हुए ख़ुशी हो रही है की इतनी कम उम्र में ही उन्होंने काफी बड़ा मुकाम हासिल कर लिया था।

कौन जानता था की बॉलीवुड के किंग कहे जाने वाले शाहरुख़ खान के बिलकुल पीछे खड़े होकर अवार्ड शो में नाच रहा शख्स एक दिन इतना बड़ा सुपरस्टार बनेगा।

बॉलीवुड डायरेक्टर शेखर कपूर एक फिल्म का निर्माण कर रहे थे जिसका नाम था पानी, जिसको लेकर सुशांत बहोत उत्साहित थे। इस फिल्म के लिए सुशांत ने बहुत मेहनत की थी। आपको बता दे पानी फिल्म के लिए तो सुशांत ने आयी हुई सभी फिल्मो को छोड़ दिया था और अपना पूरा ध्यान और समय इसी फिल्म पर लगाना चाहते थे।

तो आईये आपको बताते है ऐसे ही रोचक पहलु:

बिहार में हुआ जन्म
बिहार की राजधानी पटना के एक मध्यमवर्गीय परिवार में जन्मे थे सुशांत। सुशांत के पिताजी सरकारी विभाग में अफसर थे और माताजी गृहिणी थी। अपने बचपन का समय सुशांत ने दिल्ली में ही निकाला।

सबके प्यारे थे
सुशांत की चार बहनें है जो सभी उनसे बड़ी है। परिवार के सबसे छोटे सदस्य होने के कारण सभी के लाड़ के थे।

कौन है बहन
सुशांत की 4 बहनो में से एक राज्य स्तर पर क्रिकेट खेल चुकी है और बहन श्वेता अमेरिका में जीवनयापन करती है। सुशांत को अपनी बड़ी बहन में माँ दिखाई देती थी।

माँ का साथ छूटा
सुशांत सिंह जब स्कूल की शिक्षा ग्रहण कर रहे थे उस समय ही उनकी माँ उन्हें छोड़ कर चल बसी। उसके बाद माँ के रूप में परिवार की जिम्मेदारी सुशांत के पिता ने संभाली जिसमे सुशांत की बहनों का बहुत योगदान रहा।

पढ़ाई में थे होशियार
सुशांत सिंह पढ़ाई में होशियार थे और मन लगा कर पड़ते थे जिसके कारण ही स्कूल के बाद AIEEE में उनकी 7वी रैंक लगी थी। फिर सुशांत दिल्ली गए और दिल्ली कॉलेज ऑफ़ इंजिनियरिंग से पढ़कर अपनी इंजिनियरिंग पूरी करी।

फिल्मो से थे आकर्षित
अपनी इंजीयनियरिंग की पढ़ाई के समय ही सुशांत फिल्मों की तरफ आकर्षित हुए और उस समय हीरो बनने का सपना लिए बॉलीवुड नगरी मुंबई पहुंच गए।

ऐसे हुई थी शुरुआत
मुंबई पहुंचने के बाद काफी कोशिशों के बाद उन्हें किस देस में है मेरा दिल सीरियल में काम मिला उस समय सुशांत 22 साल के थे। सीरियल में सुशांत का किरदार एक छोटे भाई का था जिसे उन्होंने बखूभी पूरा किया था।

मुस्कान से मिला पवित्र रिश्ता
एकता कपूर का काफी प्रचलित सीरियल पवित्र रिश्ता के लिए जब सुशांत को ऑफर मिला तो वो बहुत खुश हुए, ये किरदार उनकी मुस्कान की वजह से उन्हें मिला था।

पवित्र रिश्ता ने दिलाई पहचान
एकता कपूर के सबसे प्रचलित सीरियल पवित्र रिश्ता ने सुशांत को एक अलग उचाई पर पहुंचाया, सुशांत के काम की भी बहुत तारीफ़ की गयी।

बहुत मेहनती थे सुशांत
पवित्र रिश्ता के साथी कलाकार बताते है कि बहुत मेहनत से सुशांत को ये ऊंचाई हालिस हुई है, सुशांत इतने मेहनती थे की कभी कभी तो वो सेट पर ही सो जाया करते थे। सुशांत कहते थे की मेरे चमकने का टाइम हे ये तो भला मै सो कैसे सकता हूँ।

मल्टी टैलेंट थे सुशांत
पवित्र रिश्ता के बाद सुशांत को दो रियलिटी शो करने का मौका मिला जिसमे उनके डांस की प्रतिभा को दर्शकों ने खूब सराहा। झलक दिख ला जा तथा जरा नच के दिखा ने सुशांत को बॉलीवुड को एक नया सितारा दिया।

फिल्मों का पहला ब्रेक
सुशांत का असली फ़िल्मी करियर शुरू हुआ था अभिषेक कपूर निर्देशित फिल्म काई पो छे से। एकता कपूर के छोटे भाई ही है अभिषेक कपूर, पवित्र रिश्ता के दौरान ही अभिषेक ने सुशांत के टैलेंट को देखा था।

जीता दर्शको का दिल
चेतन भगत की नावेल थ्री मिस्टेक्स ऑफ माय लाइफ का रूपांतरण थी अभिषेक की काई पो छे और सुशांत सिंह इस फिल्म में एक लड़के के किरदार में थे जिसका नाम था ईशान।

नॉमिनेशन मिला पर अवार्ड नहीं
सुशांत ने अपने अभिनय के बलबूते से प्रत्येक अवार्ड शो के डेब्यू नॉमिनेशन में जगह बनाई लेकिन सिर्फ स्क्रीन अवार्ड्स ने ही उनको सही समझा और सम्मानित किया। दूसरे जितने भी अवार्ड फंक्शन थे उन सभी ने डेब्यू अवार्ड के लिए धनुष को सम्मानित किया।

पीके से मिली पहचान
सुशांत सिंह राजपूत को उनके जीवन में सबसे बड़ी फिल्म करने का पहला मौका निर्देशक राजकुमार हिरानी ने दिया। निर्देशक राजकुमार हिरानी की फिल्म पीके थी जिसमें सुशांत सिंह का रोल केवल 10 मिनट का था लेकिन इस 10 मिनट के रोल में सुशांत को अलग पहचान दिलाई।

इंजीनियरिंग के बाद
फिल्मों में आने से पहले सुशांत सिंह राजपूत ने श्यामक दावर के डांस इंस्टीट्यूट से डांस भी सीखा था। कई बॉलीवुड फंक्शन या अवार्ड शो मे सुशांत ने सुपरस्टार के साथ स्टेज पर पीछे डांस करा है. जिसमें शाहरुख खान और सलमान खान के डांस भी शामिल है।

शाहरुख के दीवाने है सुशांत
सुशांत सिंह राजपूत बॉलीवुड के किंग शाहरुख खान से बहुत प्रभावित थे। शाहरुख के लिए सुशांत की दीवानगी इतनी ज्यादा थी की शाहरुख की फिल्म स्वदेश के सेट पर ही पहुंच गए थे यह जानकारी सुशांत ने एक इंटरव्यू में दी ।

पढ़ाई में होशियार थे
सुशांत सिंह राजपूत शुरू से ही पढ़ाई में होशियार थे उन्हें अंतरिक्ष और उससे जुड़ी हुई चीजों का बहुत शौक था। सुशांत सिंह राजपूत का घर एक टाइम मशीन जैसा ही लगता था। पूरे घर में फिजिक्स तथा फिजिक्स से जुड़ी कई सारी चीजें और किताबें हुआ करती थी।

हर किरदार मैं फिट
सुशांत सिंह राजपूत दिए गए किरदार को इतना गहराई तक समझते थे और उसके लिए जी जान से मेहनत करते थे। एक बार तो ऐसा हुआ की फिल्म डिटेक्टिव ब्योमकेश बक्शी के किरदार की कॉस्टयूम में सेट पर लोगों ने उन्हें हेल्पर समझ लिया।

फिल्म एम एस धोनी
क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी पर बनी फिल्म के लिए सुशांत सिंह राजपूत ने उनके किरदार को समझने के लिए खुद को डेढ़ साल तक कड़ी मेहनत से तैयार किया। फिल्म एम एस धोनी की तैयारी के समय सुशांत ने धोनी से कह दिया था अब सभी मुझे भी धोनी ही कहेंगे।

टीम इंडिया की टीशर्ट
फिल्म एम एस धोनी मिलने के बाद सुशांत सिंह राजपूत ने यह सोच लिया था कि मुझे भी टीम इंडिया की टीशर्ट लेनी है। इसके लिए सुशांत ने फिल्म एम एस धोनी कि तैयारी में अपने आप को इतना झोंक दिया था कि उनकी मेहनत को देखकर किरण मोरे ने खुशी से उन्हें टीम इंडिया की टीशर्ट उपहार में दी। सुशांत ने बताया यह टीशर्ट उन्हें 3 घंटे तक लगातार प्रैक्टिस पर बिना आउट हुए बैटिंग करने पर मिली है।

तेज दिमाग के धनी
जैसा कि हम सभी जानते हैं सुशांत सिंह पढ़ाई में बहुत ही तेज थे, जिसके कारण उन्होंने AIEEE में 7 वी रैंक प्राप्त की थी इसी के साथ राष्ट्रीय फिजिक्स ओलंपियाड में भी प्रथम स्थान हासिल किया था। उनका सपना था एक दिन वह नासा में ट्रेनिंग ले सके।

चांद पर था प्लॉट
बचपन से ही सुशांत सिंह राजपूत को अंतरिक्ष का बहुत शौक था। इसीलिए सुशांत ने चांद पर भी एक प्लॉट खरीदा था। चांद पर प्लॉट खरीदने वालों में सुशांत शाहरुख के अलावा दूसरे स्टार थे। देखा जाए तो शाहरुख और सुशांत के जीवन में और उनके काम करने के तरीकों में कई समानताएं है।

शाहरुख का प्रतिस्थापन
सुशांत शाहरुख को इतना पसंद करते थे कि शाहरुख की ही तरह उन्होंने भी एक्टिंग के लिए बैरी जॉन को चुना और उनसे एक्टिंग सीखी थी। उन दिनों सुशांत ने एक थिएटर ग्रुप में भी हिस्सा लिया था जिसका नाम था एकजुट।

असिस्टेंट के रूप में
काम को सीखने के लिए सुशांत सिंह राजपूत ने एक समय मोहित सूरी निर्देशित राज 2 में उनके असिस्टेंट के रूप में कार्य किया था। फिल्म में मुख्य भूमिका के रूप में आज की प्रचलित हीरोइन कंगना रनौत और हीरो की भूमिका में इमरान हाशमी थे।

डायरेक्शन का कोर्स
सुशांत सिंह राजपूत ने जिस समय एकता कपूर का टीवी सीरियल पवित्र रिश्ता छोड़ दिया था उस समय उन्होंने यह निर्णय लिया था कि अब वह डायरेक्शन का कोर्स करेंगे। लेकिन कुछ दिनों में ही सुशांत को कई बड़ी फिल्मों के ऑफर मिले और वह उनको करने में व्यस्त हो गए।

धोनी का हेलीकॉप्टर शॉट
फिल्म एम एस धोनी में महेंद्र सिंह धोनी के हेलीकॉप्टर शॉट को सही रूप में दिखाने के लिए सुशांत सिंह राजपूत ने 1 दिन में 225 बार इस शार्ट की तैयारी करी। तब जाकर कहीं 45 दिनों के बाद वह सही तरीके से उस शार्ट को लगा पाए।

चांद में थी विशेष दिलचस्पी
सुशांत सिंह राजपूत एक फिल्म करने वाले थे जिसका नाम था चंदा मामा दूर के। फिल्म की तैयारी उन्होंने शुरू भी कर दी थी और वह नासा से जुड़ी जानकारियां जुटा रहे थे। बात में सुशांत ने यह फिल्म करने से मना कर दिया उन्होंने बताया उनकी दिलचस्पी नासा से ट्रेनिंग लेने में है।

साफ दिल सुशांत
बचपन से ही अंतरिक्ष में अपनी रुचि होने के कारण सुशांत नासा से बहुत प्रभावित हैं जिसके चलते उन्होंने यह घोषणा की थी की 100 बच्चों की एक सूची तैयार करें जोकि नासा में पढ़ना चाहते हैं। ऐसे 100 बच्चों की पढ़ाई का पूरा खर्चा सुशांत खुद उठाने वाले थे।

फिल्म के लिए गिटार सीखा
किसी भी फिल्म के लिए तैयारी करने में सुशांत कोई कमी नहीं छोड़ते थे ऐसी ही एक फिल्म तक धूम के लिए सुशांत ने गिटार बजाना सीखा। इस फिल्म में सुशांत के साथ मुख्य भूमिका में परिणीति चोपड़ा भी थी लेकिन बाद में किसी कारणवश इस फिल्म पर काम बंद हो गया।

नेपोटिज्म से परेशान थे
सुशांत के प्रशंसकों का मानना है कि सुशांत आज हमारे बीच नहीं है उसका सबसे बड़ा कारण नेपोटिज्म है। सुशांत सिंह राजपूत यशराज बैनर की फिल्म ड्राइव को लेकर बहुत परेशान थे जिसके चलते सुशांत करण जोहर से काफी नाराज हुए। जिसका परिणाम यह हुआ की सुशांत को यशराज फिल्म्स ने बैन कर दिया। इसका सबसे मुख्य कारण यह बताया जाता है कि सुशांत सिंह राजपूत ने अपनी फिल्म पानी जोकि शेखर कपूर द्वारा निर्देशित थी उसको लेकर आदित्य चोपड़ा से काफी बहस बाजी की थी।

सुशांत का पहला प्यार
सुशांत को उनके जीवन में पहला प्यार एकता कपूर के सीरियल पवित्र रिश्ता की लीड रोल करने वाली अंकिता लोखंडे से हुआ था। दोनों का यह साथ काफी लंबा चला।

Leave a Comment