Categories: राजनीति

"चूड़ियां खन-खनाने वाली दुल्हन" है मोदी, सिद्धू का प्रधानमंत्री मोदी पर आपत्तिजनक बयान

कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू ने कहा “मोदी जी उस दुल्हन की तरह है जो रोटी कम बेलती है और चूड़ियां ज्यादा खनकाती है, ताकि मोहल्ले वालों को पता चले कि वह काम कर रही है”। बस यही हुआ है मोदी सरकार में।

पंजाब सरकार में मंत्री और पूर्व क्रिकेटर नवजोत सिंह सिद्धू ने भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने मध्यप्रदेश की एक चुनावी सभा में भाजपा नेताओं को काले अंग्रेज बताते हुए लोगों से इन्हें सत्ता से बाहर करने की अपील की है। साथ ही पूर्व क्रिकेटर ने प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसते हुए एक विवादित बयान दे डाला, सिद्धू ने मोदी की तुलना ऐसी दुल्हन से की है जो काम कम करती है और चूड़ियां ज्यादा खनकाती है।

सीबीआई को बना दिया कठपुतली

सिद्धू ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी लोकतांत्रिक ढांचे और संवैधानिक संस्थाओं को नष्ट कर दिया है। उन्होंने कहा कि आपने सीबीआई को कठपुतली बना दिया है। सुप्रीम कोर्ट के जज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के लिए सड़कों पर आए। आपके मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने कहा मोदी जी की सेना, फोज असली लड़ाई लड़ने के लिए है ना कि चुनाव लड़ने के लिए।

राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तुलना “नई दुल्हन” से करने वाले सिद्धू के बयान की कड़ी निंदा की। उन्होंने कहा कि इससे उनकी महिला विरोधी मानसिकता का पता लगता है। रेखा शर्मा ने ट्वीट कर कहा कि सिद्धू महिलाओं को केवल रोटी बनाने वाली के रूप में ही देखते हैं। इसकी घोर निंदा की जानी चाहिए शर्मा ने कहा “घोर निंदनीय”। यह महिलाओं के प्रति उनकी मानसिकता को दर्शाता है। क्या वह समझते हैं कि महिलाएं केवल रोटी बनाने और चूड़ियां खनकाने के लिए ही है। एक और भारतीय महिलाएं हर क्षेत्र में नई-नई उपलब्धियां हासिल कर रही है और सिद्धू उनको केवल अपने महिला विरोधी चश्मे से देखते हैं।

फिर मिला चुनाव आयोग का नोटिस

इससे पहले चुनाव आयोग ने पीएम मोदी के खिलाफ कथित रूप से अपमानजनक टिप्पणी के लिए आचार संहिता के उल्लंघन को लेकर कांग्रेस नेता नवजोत सिद्धू को शुक्रवार को एक नया कारण बताओ नोटिस जारी किया है। आयोग को भाजपा से शिकायत मिली थी, कि सिद्धू ने 29 अप्रैल को मध्य प्रदेश में चुनावी रैली के दौरान प्रधानमंत्री मोदी के बारे में अपमानजनक टिप्पणी की थी।

उन्होंने कथित तौर पर प्रधानमंत्री पर “राफेल विमान” सऊदी में पैसा बनाने का आरोप लगाया था। साथ ही मोदी पर यह आरोप लगाया था कि उन्होंने अमीरों को “राष्ट्रीयकृत बैंकों” को लूटने के बाद देश से भागने की अनुमति दी, आयोग ने अप्रैल में सिद्धू पर 72 घंटों के लिए प्रचार पर भी लोग रोक लगा दी थी।

इसे भी पढ़े : –

Leave a Comment