23.3 C
India
Sunday, September 19, 2021

सब्जी बेच गुजारा करने वाले किसान के 4 लाख रूपए चूहे कर गए हजम, इलाज के लिए अलमारी में रखे थे

सोचिए अगर आपने अपनी ज़िंदगीभर की पूँजी इकठ्ठा करके संभाल कर रखी हो ताकि आप काम पड़ने पर उसे इस्तेमाल कर सके। लेकिन अगर उन्ही रुपयों में आग लग जाये या वो रूपए नष्ट हो जाये तो आपकी क्या हालत होगी ? कुछ ऐसा ही हुआ है एक बुजुर्ग के साथ जिसने अपने इलाज के लिए 4 लाख रूपए जमा किये थे लेकिन जैसे ही वो अपने रूपए निकालने गया तो उसकी आँखे फटी की फटी रह गयी।

- Advertisement -

Mice munched farmer money

ये बुजुर्ग है तेलंगाना (Telangana) में रहने वाले रेड्या नायक (Redya Naik) जो सब्ज़ी बेचकर अपना गुज़ारा करते है, नायक पेट में दर्द की बीमारी से पीड़ित है। जब उन्होंने इसकी जांच करवाई तो पता चला की उनके पेट में ट्यूमर (Tumor in the Stomach) है। ये सुनने के बाद से ही वो अपने इलाज के लिए पैसे जमा करने में लग गए थे। डॉक्टर ने उन्हें ऑपरेशन करवाने की सलाह दी थी, जिसके लिए उन्हें 4 लाख रूपए की ज़रुरत थी।

रेड्डी नायक तेलंगाना के इंदिरानगर थांडा के वेमनूर गांव (Vemnoor) में रहते है। इन्होने एक बैग में पैसे भरकर अपनी घर की अलमारी में रख दिए थे। जब पैसे निकालने के लिए रेड्डी ने अलमारी खोली तो देखा की बैग में रखे सारे नोट चूहों ने कुतर दिए थे। नायक के अनुसार उनके पास इतने पैसे नहीं थे और वो जल्द ही अपना इलाज करवाना चाहता था क्योंकि उससे उसके पेट का दर्द सहन नहीं हो रहा था।

Mice munched farmer money 1

बुजुर्ग ने बताया की उन्होंने सब्ज़ी बेच बेचकर और उधार लेकर पैसे इकट्ठे किये थे ,लेकिन जब उसने अलमारी से पैसे निकाले तो उसकी सिट्टी – पिट्टी गुम हो गयी। पूरे नोट चूहों द्वारा कुतर कर ख़राब कर दिए गए थे। वही लोगो ने उसे सलाह दी की वो बैंक जाकर अपने पैसे बदलवा ले। बैंक जाने पर भी उसे निराश ही होना पड़ा क्योंकि बैंक वालो ने भी पैसे लेने से मना कर दिया और उसे रिज़र्व बैंक जाने की सलाह दी। जबकि आरबीआई (RBI) द्वारा बैंको को आदेश दिया गया है की गंदे और कटे फटे नोट वो बदल सकती है। लेकिन चूहों द्वारा कुतरने के मामले में कोई नियम नहीं है।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

112,451FansLike
1,152FollowersFollow
13FollowersFollow

Latest Articles

error: Content is protected !!