Dream-11 Jackpot: डेविड मिलर के 3 छक्कों से शिमला के रमेश की बदली किस्मत, 49 रुपए की टीम से जीते 1.17 करोड़

आपने सुना ही होगा इंसान की किस्मत जब अच्छी हो तो खेत में फेंका हुआ पत्थर भी सोना बन जाता है। कुछ ऐसा ही गुजरात टाइटन और राजस्थान रॉयल्स के मैच के दौरान रमेश के साथ हुआ। क्रिकेट के महाकुंभ कहे जाने वाले आईपीएल में रोजाना मुकाबले होते हैं। ऐसे में आज बहुत से प्लेटफार्म मौजूद हैं जिन पर लोग अपनी टीम बनाकर अपनी किस्मत को आज माते हैं।

google news
dream 11 winner Ramesh shimla

dream11 जैसे प्लेटफॉर्म से अब तक कई लोग करोड़पति भी बन चुके हैं। आज हम इस आर्टिकल में ऐसे ही एक व्यक्ति के बारे में बात करने जा रहे हैं। जिन्होंने dream11 में टीम बनाते हुए 1.17 करोड़ रुपए जीते हैं। दरअसल, हम बात कर रहे हैं शिमला के दुर्गम क्षेत्र कुपवी के रहने वाले रमेश की जो कि काफी गरीब परिवार से आते हैं और दवा कंपनी में काम करते हुए अपने परिवार का गुजारा करते हैं।

रमेश को dream11 पर टीम बनाने का काफी पुराना शोक है ऐसे में उन्होंने एलिमिनेटर राउंड के पहले मुकाबले में राजस्थान रॉयल्स और गुजरात टाइटंस के बीच एक टीम बनाई। जिसमें देखा गया था कि आखिरी ओवर में गुजरात टाइटन को जीत के लिए 16 रनों की जरूरत रहती है। वहीं अंतिम ओवर लेकर राजस्थान रॉयल्स की तरफ से प्रसिद्धि कृष्णा आते हैं और उनका सामना करते हैं।

साउथ अफ्रीका के धुआंधार खिलाड़ी डेविड मिलर एक समय सभी को ऐसा लग रहा था कि यहां मुकाबला गुजरात टाइटंस के हाथ से निकल गया है। लेकिन इसे डेविड मिलर ने गलत साबित कर दिया। उन्होंने प्रसिद्धि कृष्णा की 3 गेंदों पर 3 छक्के लगाकर अपनी टीम को बड़ी जीत हासिल करवाई। इस मुकाबले को जीतने के साथ ही रमेश की भी किस्मत चमक गई। उन्होंने मात्र 49 की टीम बनाकर इस मैच से एक करोड़ 17 लाख 50 हजार की राशि जीती।

google news

dream11 पर अपनी टीम की जानकारी देते हुए रमेश ने बताया कि उन्होंने इस मुकाबले में डेविड मिलर को उप कप्तान बनाया था जबकि बटलर को उन्होंने कप्तान बनाया था। आखिरी ओवर में डेविड मिलर द्वारा खेली गई पारी ने उन्हें अंक तालिका में सबसे ऊपर लाकर खड़ा कर दिया और वे इतना बड़ा इनाम जीतने में सफल रहे। उन्होंने आगे बताया कि वह dream11 पर पिछले 4 सालों से अपनी किस्मत को आजमा रहे हैं।

रमेश ने कितने दिनों में तकरीबन 500 से ज्यादा रुपए dream11 पर हारे हैं। वे एक फार्मा कंपनी में काम करते हैं। बता दें कि इस मुकाबले में उनके उपकप्तान द्वारा खेली गई आक्रामक पारी से उनका स्कोर 839.5 पहुंच गया। 30% टैक्स कटौती के बाद रमेश को 83 लाख रुपए अकाउंट में प्राप्त हुए हैं। उन्होंने अपनी जर्नी के बारे में बताया कि उनके पिता का कैंसर से निधन हो गया और वे काफी गरीब परिवार से आते हैं।

Stay Connected

272,586FansLike
3,667FollowersFollow
18FollowersFollow
Follow Us on Google Newsspot_img

Latest Articles