24 C
Mumbai
Tuesday, January 31, 2023
spot_img

क्या आपके बच्चे भी मोबाइल के दीवाने है तो हो जाये सावधान, भूलकर भी नहीं करें ये गलती

आज के जमाने में टेक्नोलॉजी बहुत आगे पहुंच गई है, इस टेक्नोलॉजी के चलते सबसे ज्यादा चलन स्मार्टफोन का हो गया। इस फोन की लत हमें कई घंटों मोबाइल स्क्रीन पर देखने को मजबूर कर देती है। जहां एक तरफ इस स्मार्टफोन के कुछ नुकसान है जो हमारी जिंदगी को बर्बादी के कगार पर पहुंचा देती है। हमारे मोबाइल फोन से निकलने वाले हानिकारक किरणें हमारी आंखों के लिए अच्छी नहीं होती है। खासकर बच्चों की आंखों पर इसका नकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है।

New WAP

कुछ मामलों में यह बातें सिर्फ आंखों के चश्मे तक ही सीमित नहीं रहती बल्कि कुछ गंभीर परिणाम भी हो सकते हैं। ऐसा ही कुछ थाईलैंड में रह रहे एक पेरेंट्स के साथ हुआ। दरअसल थाईलैंड के रहने वाले Dachar Nuysticker Chuayduna की 4 साल की बेटी को अधिक स्मार्टफोन देखना महंगा पड़ गया।

उनकी बेटी 2 साल की थी तब से ही मोबाइल फोन देखती थी। ऐसे में जब 4 साल की हुई तो उसकी आंखों में इस मोबाइल की वजह से समस्या पैदा हो गई। समस्या से निपटने के लिए पहले चश्मा लगा दिया गया लेकिन इससे कोई बात नहीं बनी। क्योंकि बच्ची को “लेजी आई “नाम की एक गंभीर बीमारी हो गई थी। यह एक ऐसी बीमारी है जिसका इलाज चश्मा लगाने के बाद भी संभव नहीं है। इस बीमारी की वजह से हमारा दिमाग आंखों को देखने वाली तस्वीर को सेंस नहीं कर पाता है। नतीजतन हमें आंख से कम या ना के बराबर दिखता है।

New WAP

पिता ने इस पूरी घटना को फेसबुक पर शेयर कर कहा कि हमें लगा बेटी की आंखें चश्मा लगाने के बाद ठीक हो जाएगी। लेकिन बाद में पता चला कि इसकी सर्जरी करनी पड़ेगी साथ ही यह भी लगा कि यह सब मोबाइल का परिणाम है। सर्जरी करवाई उसके बाद उम्मीद है कि बेटी की रोशनी पुनः आ जाए। अतः सभी पेरेंट्स से अनुरोध है कि बच्चों को मोबाइल से जितना दूर रखा जा सके रखने का प्रयास करें।

कहीं आपकी एक गलती उसका पूरा भविष्य अंधकारमय न कर दे

नेत्र विशेषज्ञों के अनुसार बच्चों को आमतौर पर 1 या 2 घंटे से ज्यादा मोबाइल नहीं देखने देना चाहिए। मोबाइल से बच्चों की आंखों और दिमाग पर गलत असर पड़ता है। क्योंकि कुछ माता-पिता की आदत होती है कि जब वह काम करते हैं तो बच्चों को मोबाइल देकर बिठा देते हैं, जो कि सबसे खतरनाक है। अपने बच्चों के लिए पेरेंट्स को ही सजग और सतर्क रहना होगा।

इसे भी पढ़े : –

Stay Connected

272,586FansLike
3,667FollowersFollow
20FollowersFollow
Follow Us on Google Newsspot_img

Latest Articles

error: Content is protected !!