मध्यप्रदेश में बेरहमी: दो दलित बच्चों की खुले में शौच के लिए पीट-पीट कर..

शिवपुरी में दो मासूमों को मौत के घाट उतारा, क्योंकि वह पंचायत भवन के सामने शौच कर रहे थे। मारे गए बच्चों की उम्र सिर्फ 11 और 12 साल है। दोनों को गंभीर चोट आई है। वह बच्चे दलित समुदाय के थे।

पंचायत भवन के सामने शौच करने पर दो व्यक्तियों ने दोनों बच्चों को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला। घटना के बाद सिरसोद पुलिस ने हाकिम यादव और उसके भाई रामेश्वर यादव को गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस के अनुसार प्रारंभिक जांच में पता चला है कि, घटना में दो ही व्यक्ति कथित तौर पर शामिल थे। बुरी तरह पीटा जाने से दोनों बच्चों रोशन वाल्मीकि 12 साल और अविनाश वाल्मीकि 10 साल को सिर में गंभीर चोट आई और इसके बाद बच्चों को अस्पताल ले जाने पर चिकित्सक ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। बच्चों के परिजनों का कहना है कि दोनों बच्चों की सुबह करीब 6:30 बुरी तरह पीटकर हत्या कर दी गयी। मृतक अविनाश के पिता मनोज बाल्मीकि का कहना है, कि गांव में उनके साथ जातिगत भेदभाव किया जाता रहा है।

स्थानीय न्यूज एजेंसी के मुताबिक मनोज ने बताया 2 साल पहले मेरी आरोपियों से बात हुई थी और उन्होंने मुझे जातिगत गालियां देकर अपमानित किया था। उन्होंने मुझे जान से मारने की भी धमकी दी थी। इसके अलावा वो चाहते थे कि मैं कम से कम मजदूरी में काम करूं। अनुसूचित जाति एवं जनजाति अधिनियम के अनुसार मामला दर्ज किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *