कई मंदिरों में मांगी थी उषा सिंह ने गुलशन के लिए मन्नत तब जाकर हुआ था सुशांत सिंह राजपूत का जन्म

आज दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की प्रथम पुण्यतिथि वही इस मौके पर उनके परिवार के साथ उनके फैंस और दोस्त उनकी याद में उनसे जुड़ी कई फोटो और वीडियो को सोशल मीडिया के माध्यम से लगातार शेयर कर रहे हैं बता दें कि यह सिलसिला पिछले 1 साल से निरंतर चलता रहा है। बहुत कम समय ऐसा था जब लोगों ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपने चहेते अभिनेता को याद ना किया हो। आए दिन सुशांत सिंह राजपूत के नाम का हैशटैग भी ट्रेंड होते हुए ही नजर आया है।

sushant left early

सुशांत सिंह राजपूत एक बहुत ही प्रतिभाशाली और अपने काम के प्रति बेहद ईमानदार अभिनेता थे। उन्होंने उनके जीवन में जितनी भी चीजें की सभी में पूरी ईमानदारी बरती, यही कारण है कि उन्होंने महज 34 वर्ष की उम्र में ही हर फील्ड में अपना नाम रोशन कर दिया था। लेकिन 14 जून का वो काला दिन जिसने इस उभरते हुए कलाकार को हम सब से छीन लिया उनकी कमी को तो आज कोई पूरा नहीं कर सकता। लेकिन आज भी सुशांत हम सब की यादों में पहले की तरह ही बसे हुए हैं।

sushant-rajput-mother

आज उनकी पुण्यतिथि के मौके पर हम उनसे जुड़ी कुछ ऐसी बातें आपके साथ में साझा करने जा रहे हैं। जिनसे शायद आप आज तक अनजान रहें होंगे। बता दें कि अभिनेता के जन्मदिन के मौके पर भी उनके जीवन से जुड़ी कई यादें सोशल मीडिया पर उनके फैंस और उनके करीबी द्वारा शेयर की गई थी जिनमें बताया गया था कि बड़ी मन्नतों के बाद में सुशांत सिंह राजपूत का जन्म हुआ था।

sushant singh prayers

सुशांत सिंह राजपूत चार बहनों के एकलौते भाई थे जिनसे वे बेहद ही ज्यादा प्यार किया करती थी। इतना ही नहीं उनकी मां उषा ने एक बेटे के जन्म के लिए ना जाने कितने मंदिरों में मत्था टेका था। जब जाकर कहीं सुशांत सिंह का जन्म हुआ। वह अपनी मां के बेहद करीब थे। सुशांत को भी अपनी मां से बेहद ज्यादा लगाव था। लेकिन 16 साल की उम्र में ही उनके सर से मां का साया उठ गया था।

anjani pathak sushant neighbour

बता देगी इस बात की जानकारी उनके पार्टनर वाले घर के पड़ोस में रहने वाली अंजली पाठक ने दी थी उन्होंने इस दौरान सुशांत राजपूत के जीवन से जुड़ी उनकी बचपन की यादें सबके साथ में साझा की सुल्तान शुरू से ही बेहद आचरण के पावन थे वे जब भी घर पर आते थे मेरे पैर छुआ करते रहे करते थे। आगे उन्होंने बताया कि सुशांत से शुरू से ही पढ़ाई में बेहद ही ज्यादा होशियार थे।

sandeep nahar with sushant

बचपन में उनकी मां उनको गुलशन के नाम से बुलाया करती थी। लेकिन 16 साल की उम्र में उनकी मां उन्हें छोड़कर चली गई। जिससे वह काफी ज्यादा डिप्रेशन में चले गए थे क्योंकि वे अपनी मां से बेहद ज्यादा प्यार करते थे। लेकिन बाद में उन्होंने अपनी सबसे बड़ी बहन को ही अपनी मां मान लिया था। और अपना ज्यादातर समय उनके साथ ही व्यतीत करते थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *