21.6 C
India
Wednesday, October 20, 2021

दो महिला शिक्षिकाओं ने पेश की इंसानियत की मिसाल, 150 गरीब बेसहारा बच्चों के लिए बनवाए मकान

आज लगातार बदल रहे इस दौर में हर इंसान पहले अपनी परवाह करना पसंद करता है जिसके बाद ही वह आगे किसी दूसरे पर ध्यान देता है। क्योंकि जिस तरह से समाज में लगातार बदलाव देखने को मिल रहे हैं। ऐसे में हर इंसान कुछ बड़ा और नया करने के लिए लगा रहता है। इसकी वजह से उसे अपने अलावा किसी और पर ध्यान देने का समय नहीं मिल पाता है। लेकिन आज समाज में और हमारे बीच बहुत से ऐसे लोग मौजूद हैं। जिन्होंने अपनी परवाह न करते हुए दूसरों के लिए कुछ ऐसा कर दिखाया है जिसकी वजह से आज वे लोगों के बीच बड़ी मिसाल पेश कर रहे हैं।

- Advertisement -

आज भी बहुत से लोग ऐसे हैं जो अपनी इंसानियत से सभी बीच एक प्रेरणा बने हुए हैं और लगातार दूसरों की मदद कर रहे हैं। आज हम केरल कोच्चि की दो महिला शिक्षिका की बात करने जा रहे हैं जिन्होंने बेसहारा बच्चों को सहारा देने के लिए इतना बड़ा काम कर दिया है कि इनकी चर्चा अब सोशल मीडिया पर तेजी से हो रही है और सभी इन महिला शिक्षिकाओं की जमकर तारीफ कर रहे हैं क्योंकि इन्होंने वह कार्य कर दिखाया है। जिसे सरकार द्वारा किया जाना चाहिए था।

बता दें कि दोनों ही शिक्षिकाओं ने डेढ़ सौ बच्चों के लिए रहने के लिए घर बनवाया है। कोरिया साबित किया है कि इंसानियत से बढ़कर दुनिया में कोई चीज नहीं होती महिला शिक्षिकाओं का या हौसला देखकर सभी उनको सलाम कर रहे हैं। इतना ही नहीं इनकी अब जमकर तारीफ भी हो रही है। मीडिया एजेंसी एएनआई के अनुसार, वर्तमान में दोनों शिक्षिका थोप्पुमपड़ी स्थित स्कूल में कार्यरत है।

दोनों ही शिक्षिकाओं ने लोगों की मदद से ऐसे बच्चों के लिए घर बनाने का काम किया है जो बेसहारा थे। तकरीबन उन्होंने 150 बच्चों के लिए आशियाना बनाया है और मानवता की मिसाल पेश की है। दोनों महिला शिक्षिकाओं को जब बच्चों की जानकारी मिली तो उन्होंने फौरन ही चंदा इकट्ठा करना चालू कर दिया और तकरीबन डेढ़ सौ बच्चों के लिए बड़ा सा आशियाना बनाया है। आज इन महिलाओं का हौसला और कार्य लोगों के लिए किसी मिसाल से कम नहीं है। समाज में ऐसे लोग बहुत कम ही देखने को मिलते हैं।

 

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

112,451FansLike
1,152FollowersFollow
13FollowersFollow

Latest Articles

error: Content is protected !!