Categories: Uncategorized

“इक प्यार का नगमा है” गीतकार 81 वर्षीय संतोष आनंद का संघर्षों से गुजर रहा जीवन, नेहा ने बढ़ाये मदद के हाथ

कभी बॉलीवुड में अपने गीतों से लोगों का दिल जीतने वाले मशहूर गीतकार संतोष आनंद इन दिनों खासी परेशानियों का सामना कर रहे हैं। उनके जीवन में एक समय ऐसा था जब उनके लिखे गीतों को सुनने के लिए लोग बेताब होते थे। लेकिन तेजी से बदलते समय ने उनसे उनका सब कुछ छीन लिया। और आज वे परेशानियों से गुजर रहे हैं।

Image Source: Google

बता दें कि मशहूर गीतकार संतोष आनंद 81 वर्ष के हो चुके हैं। और आज उनके पास कोई भी काम नहीं है। जिसके कारण उनकी आर्थिक स्थिति भी सही नहीं चल पा रही है। संतोष आनंद का बुढ़ापे का सहारा उनके बेटे संकल्प ने 2014 में ही अपनी परेशानियों के चलते अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी। वहीं बेटे के इस तरह चले जाने के बाद वे खुद अब शारीरिक रूप से लाचार हैं।

Image Source: Google

वे अब व्हीलचेयर के सहारे चल पाते हैं। वहीं हाल ही में मशहूर गीतकार संतोष आनंद टीवी शो इंडियन आइडल के 12 वे संस्करण में शिरकत करने पहुंचे। इस दौरान उन्होंने अपनी आपबीती शो में सुनाई, उनकी इस बात को सुन जज नेहा कक्कड़ भावुक हो गईं। और उन्होंने संतोष आनंद की मदद के लिए हाथ बढ़ाते हुए उन्हें 5 लाख रुपए देने की घोषणा की।

संघर्षों से गुजर रहा है जीवन

Image Source: Google

दरअसल, संतोष आनंद इस हफ्ते शो में संगीतकार प्यारेलाल के साथ नजर आने वाले हैं। वहीं सेट पर पहुंचे गीतकार संतोष ने बताया कि उन्हें बिल तक चुकाने में कठिनाई हो रही है। इसके बाद नेहा ने उनसे कहा कि वे किसी भी तरह उनकी मदद करना चाहती हैं क्योंकि वे इंडियन म्यूजिक इंडस्ट्री का बेहद अहम हिस्सा हैं। इतना ही नहीं नेहा ने इंडस्ट्री से उन्हें काम उन्हें काम देने की अपील भी की। नेहा के अलावा विशाल ददलानी ने भी संतोष आनंद से उनके लिखे गीत मांगे और कहा कि वे उन्हें रिलीज करेंगे।

संतोष आनंद के लिखे मशहूर गीत ​​​

“मुहब्बत है क्या चीज”
“इक प्यार का नगमा है”
“जिंदगी की ना टूटे लड़ी प्यर कर ले घड़ी दो घड़ी”
“मारा ठुमका बदल गई चाल मितवा”
“मेघा रे मेघा रे मत जा तू परदेश”
“मैं न भूलूंगा,इन रस्मों को इन कसमों”
“ओ रब्बा कोई तो बताए”
“आप चाहें तो हमको”
“जिनका घर हो अयोध्या जैसा”

Leave a Comment