Categories: न्यूज़

सबसे बड़ा मोदी भक्त ! बनवाया पीएम मोदी का मंदिर, करता है आरती, बोला "मोदी मेरे भगवान"

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रशंसक तमिलनाडु के एक किसान ने अपने खेत में उनका एक मंदिर बनवाया। किसान का मानना है कि वह प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि जैसी कल्याणकारी योजनाओं से प्रभावित हैं और उसे इससे उसका फायदा भी मिला है। पी शंकर (50) नाम के इस किसान ने यहां से करीब 63 किलोमीटर दूर ईराकुड़ी गांव में मंदिर का उद्घाटन किया है। वह प्रतिदिन आरती भी करता है। खैर, यह कोई पहली बार नहीं हुआ है जब किसी राजनेता का मंदिर बनवाया गया हो। इससे पहले भी देश में कई नेताओं और बॉलीवुड स्टार्स के मंदिर बनवाए जा चुके हैं। मंदिर में मोदी की प्रतिमा के अलावा एमजी रामचंद्रन, जयललिता और तमिलनाडु के सीएम के पलानीस्वामी के फोटो भी लगाए है। शंकर कहते हैं, “मोदी भगवान जैसे हैं, क्योंकि वे यहां विकास करने आए हैं।”

मंदिर बनाने में किसी तरह की मदद नहीं ली
पी शंकर अपने गांव ईराकुडी में किसान संघ के अध्यक्ष भी हैं। उन्होंने बताया कि वह 2014 से मंदिर बनाने की सोच रहे थे। पहले उन्होंने मोदी की मैटल की मूर्ति बनवाने की कोशिश की, लेकिन इस पर ₹100000 खर्च आ रहा था और ग्रेनाइट की मूर्ति ₹80000 में पड़ रही थी। इतना बजट नहीं था, इसलिए पत्थर और सीमेंट से दो फीट ऊंची मूर्ति तैयार कराई। इसमें ₹10000 का खर्च आया, बाकी पैसा मंदिर बनाने में लगा। उन्होंने मंदिर बनाने में किसी तरह की मदद नहीं ली। यह मंदिर 8 गुणा 8 फुट का है और इसकी फर्श पर टाइल्स लगी हुई है। लोगों के स्वागत के लिए परंपरागत रंगोली भी बनाई गई है। मंदिर की लागत करीब 1.2 लाख रुपए है और प्रधानमंत्री की एक प्रतिमा लगी है। मोदी की एक प्रतिमा के दोनों तरफ परंपरागत दीप जलाए गए हैं। उनके माथे पर तिलक लगा है और मूर्ति में प्रधानमंत्री गुलाबी कुर्ते और नीले शाॅल में दिख रहे हैं।

8 महीने पहले शुरू हुआ निर्माण
किसान ने बताया कि अय्या (प्रधानमंत्री मोदी के लिए सम्मानजनक संबोधन) के मंदिर का निर्माण करीब 8 महीने पहले शुरू हुआ था। कुछ दिक्कतों के चलते वह इसे जल्दी नहीं पूरा कर सके और मंदिर का उद्घाटन पिछले सप्ताह हुआ। पी शंकर के मुताबिक उन्हें केंद्र की कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिला है। उन्हें प्रधानमंत्री की ऐसी पहल बेहद पसंद है। किसान ने बताया, मुझे किसानों की योजना के तहत ₹2000 (प्रधानमंत्री सम्मान निधि), गैस (प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना) और शौचालय की सुविधा (घर-घर शौचालय योजना) मिली।

शंकर ने कहा- मंदिर मोदी के लिए उनका प्यार
पी शंकर के अनुसार, “मंदिर मोदी के लिए उनके प्यार की मिसाल है।” इसके निर्माण के पीछे कई वजह हैं। एक वजह है मेडिकल एडमिशन के लिए आयोजित होने वाली नीट परीक्षा। उनकी बेटी को प्लस टू में 1105 अंक मिले थे। मेडिकल परीक्षा में 2 अंक से फेल हो गई। प्राइवेट मेडिकल कॉलेज दाखिले के लिए मोटी रकम मांग रहे थे। इस पर बेटी का एडमिशन अन्ना यूनिवर्सिटी में इंजीनियरिंग कंप्यूटर साइंस में कराया। अब नीट लागू होने से मेडिकल में एडमिशन का अवैध धंधा बंद हो गया है।

किसान से बीजेपी का सदस्य बनने का अनुरोध
बीजेपी के तिरुचिरापल्ली क्षेत्र के प्रभारी और राष्ट्रीय परिषद के सदस्य ला कन्नन ने बताया कि यह किसान पार्टी का सदस्य नहीं है। उन्होंने कहा कि हमने पी शंकर से पार्टी में शामिल होने और लोगों की भलाई के लिए काम करने का अनुरोध किया है।

Leave a Comment