Categories: देश

SVANidhi Samvaad: रेहड़ी-पटरी वालों को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिए कमाई बढ़ाने के मंत्र

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (ANI फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi ) ने ‘पीएम स्वनिधि योजना’ (PM Svanidhi Scheme ) के तहत कर्ज लेने वाले रेहडी-पटरी वालों के साथ संवाद किया. इसमें उन्होंने कमाई बढ़ाने के मंत्र दिए.

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi ) ने अपने संवाद में रेहड़ी-पटरी वालों को डिजिटल लेन-लेन अपनाने की सलाह दी. उन्होंने प्लास्टिक बैग का इस्तेमाल न करने की भी सलाह दी. उन्होंने कहा कि आजकल खाने-पीने का सामान बेचने वाले स्ट्रीट वेंडर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रख रहे हैं. ग्वालियर में रेहड़ी पर शर्मा टिक्की स्टोर चलाने वाली अर्चना शर्मा से बात करते हुए प्रधानमंत्री ने उन्हें आयुष्मान भारत योजना के बारे में भी जानकारी दी. आपको बता दें कि पीएम स्वनिधि योजना के तहत कर्ज लेने वाले मध्य प्रदेश के रेहड़ी-पटरी वालों के साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने संवाद किया. प्रधानमंत्री के स्ट्रीट-वेंडर्स के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से संवाद को ‘स्‍वनिधि संवाद’ (SVANidhi Samvaad) नाम दिया गया. इस अवसर पर केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी उपस्थित थे.

रायसेन में सब्जी बिक्रेता डालचंद कुशवाहा से बात करते हुए प्रधानमंत्री ने जैविक सब्जी की अहमियत के बारे में बताया. डालचंद के साथ प्रधानमंत्री ने उज्जवला योजना, आयुष्मान भारत और लॉकडाउन में गरीबों के खाते में ट्रांसफर की नकद राशि के बारे में चर्चा की.

नौकरी करने वालों के लिए खुशखबरी-EPF पर मिलने वाला ब्याज हुआ तय, इस महीने में आएगा पैसा

प्रधानमंत्री ने स्ट्रीट वेंडरों द्वारा इस्तेमाल किए जाने वाले डिजिटल लेन-देन के बारे में भी चर्चा की. उन्होंने कहा कि पीएम स्वनिधि योजना के तहत मिलने वाले लोन का सही इस्तेमाल करना चाहिए.रेहड़ी-पटरी वालों से बात करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा कि स्वनिधि योजना ने रेहड़ी-पटरी वालों के अंदर आत्मसम्मान देने का काम किया है.

जानिए पीएम स्वनिधि योजना के बारे में….

लॉकडाउन के बाद रेहड़ी-पटरी वाले (street vendors) अपने काम को फिर से शुरू कर सकें, इसके लिए केंद्र सरकार ने ‘पीएम स्वनिधि योजना’ योजना शुरू की थी. यह योजना इस साल 1 जून को शुरू की गई थी.

इस योजना के तहत अब तक 10.12 लाख से अधिक आवेदन प्राप्त हुए हैं और 3.42 से ज्यादा आवेदनों को मंजूरी दी जा चुकी है. अब तक 87,193 लोगों को इस योजना के तहत लोन दिया जा चुका है.

पीएम स्वनिधि योजना’ की ज्यादा जानकारी इसके वेब पोर्टल pmsvanidhi.mohua.gov.in से हासिल की जा सकती है. इसी पोर्टल पर जाकर रेहड़ी-पटरी वाले अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.

‘पीएम स्वनिधि योजना’ के तहत रेहड़ी-पटरी वालों को आसान शर्तों और किस्तों पर 10,000 रुपये तक का लोन दिया जाता है. अगर इस लोन को समय से पहले वापस कर दिया जाता है तो सरकार की तरफ से 7 फीसदी की दर से ब्याज में सब्सिडी दी जाती है. सब्सिडी की राशि तीन महीने में एक बार ऋण लेने वाले खाते में जमा की जाएगी.

इस योजना के तहत अगर वेंडर अपने लेन-देन को डिजिटल माध्यम से करता है तो उसे महीने में कैश बैक भी मिलता है. डिजिटल लेन-देन के लिए कर्ज लेने वाले को एक डेबिट कार्ड और वेंडिंग स्टॉल के लिए एक क्यूआर कोड दिया जाता है. क्यूआर कोड के माध्यम से दुकानदार अपने ग्राहकों से पैसा ले सकते हैं. अगर लोन का पैसा समय पर चुका दिया जाता है तो रेहड़ी-पटरी वाले को और ज्यादा लोन मिल सकता है.


hindi.news18.com

Leave a Comment