अमन और शांति के लिये 87 दिनों में कश्मीर से कन्याकुमारी तक दौड़ी सूफिया

33 साल की सूफिया ने 87 दिनों में कश्मीर से कन्याकुमारी की दौड़ पूरी कर अपनी तरह का रिकॉर्ड बनाया। इस दौड़ के लिए उन्हें Genius World Record की तरफ से सर्टिफिकेट मिला है। उन्होंने 87 दिनों में पूरे 4035 किलोमीटर कवर किये। आज सुबह से ट्विटर पर #हमवापसआएंगे ट्रेंड कर रहा था। यह हेशटैग संदेश था कश्मीरी पंडितों का, जो 90 में कश्मीर में हुई हिंसा और कश्मीरी पंडितों के निष्कासन के बाद से देश के अलग-अलग हिस्सों में रह रहे हैं। सूफिया भी कश्मीर की ही हैं। यहां पर उनका नाम लेने की वजह? उनकी दौड़। जो उन्होंने कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक पूरी की।

इस दौड़ के पीछे सूफिया का मकसद अमन और शांति की उम्मीद को उत्तर से दक्षिण तक पहुंचाना था। इस दौर की अवधि 100 दिन रखी गई थी, लेकिन सूफिया ने इसे 87 दिनों में पूरा कर लिया। उनकी इस खूबसूरत यात्रा की शुरुआत 25 अप्रैल 2019 को हुई। इससे पहले उन्होंने 2018 में 16 दिनों में 720 किलोमीटर की दौड़ लगाई थी और उनका नाम इंडिया बुक आफ रिकॉर्ड्स में दर्ज हुआ था। अपने इस अचीवमेंट की जानकारी सूफिया ने अपने फेसबुक अकाउंट से शेयर की। इस पोस्ट में उन्होंने लिखा “गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड सर्टिफिकेट” पाकर मुझे खुद पर गर्व है। मैं उन सभी की आभारी हूं जो कश्मीर से कन्याकुमारी तक इस मिशन, Mission Hope मे साथ आए। मैं उन सभी का दिल से शुक्रियाअदा करना चाहती हूं जिन्होंने इस पूरे सफर में बिना किसी मकसद के मेरी मदद की और धन्यवाद देती हूं उन सभी को जिन्होंने मेरा उत्साहवर्धन किया और अपनी बेटी की तरह मेरा सपोर्ट किया।

Source Facebook

जब मैं चल भी नहीं पा रही थी तब मेरा मेरा मनोबल बढ़ाने के लिए आप सभी का धन्यवाद। सूफिया पहले एयरलाइंस में काम करती थी लेकिन दौड़ पहले से उनका पैशन थी। इस तैयारी के लिए उन्होंने नौकरी छोड़ दी और फुल टाइम रनर बन गई। अब उनका मकसद अपनी दौड़ के जरिए अमन और शांति का संदेश देना है। आपके नेक मकसद के लिए ढेर सारी शुभकामनाएं, सूफिया!

Leave a Comment