Categories: देश

SSR Case: रिया की जमानत याचिका खारिज, 22 सितंबर तक जेल में ही रहना होगा

sushant singh rajput Case Drug connection: ड्रग मामले में फंसीं ​रिया चक्रवर्ती की जमानत पर आज कोर्ट में फैसला सुनाया गया.

मुंबई. दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh rajput) के कथित आत्महत्या मामले में मादक पदार्थों के एक मामले के सिलसिले में गिरफ्तार रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक चक्रवर्ती की जमानत याचिकाओं पर एक विशेष अदालत शुक्रवार को अपना आदेश पारित किया.  अदालत ने  शौविक चक्रवर्ती, रिया चक्रवर्ती, अब्दुल बासित, ज़ैद विलात्रा, दिपेश सावंत और सैमुअल मिरांडा की जमानत याचिका मुंबई की एक विशेष अदालत ने खारिज कर दी है.   रिया और शौविक को मादक पदार्थ नियंत्रण ब्यूरो (एनसीबी) ने गिरफ्तार किया था.

एनसीबी ने गुरुवार को जमातनत याचिकाओं का कड़ा विरोध करते हुए कहा कि भले ही इस मामले में जब्त की गई प्रतिबंधित मादक पदार्थों की मात्रा कम थी लेकिन यह वाणिज्यिक मात्रा थी और 1,85,200 रुपये की थी. स्पेशल जज जी बी गुराव ने गुरुवार को चक्रवर्ती भाई-बहन के वकील और मामले में विशेष सरकारी अभियोजक की दलीलों को सु ना था. मामले में चार अन्य आरोपियों की जमानत याचिकाओं की भी जज ने सुनवाई की. सरकारी वकील अतुल सर्पांडे ने कहा कि एनसीबी ने सभी आरोपियों की याचिकाओं का विरोध किया था.

यह भी पढ़ें: राधिका मदान ने बताया रिया चक्रवर्ती का सपोर्ट करना क्यों है जरूरी, बोलीं- न्याय होना अभी बाकि है…

एनसीबी ने हलफनामों में कही यह बातजमानत याचिकाओं पर अपने जवाब में दाखिल किये गये हफलनामे में एनसीबी ने कहा कि रिया चक्रवर्ती और शौविक चक्रवर्ती सुशांत सिंह राजपूत के लिए मादक पदार्थों की व्यवस्था करते थे और उसके पैसे देते थे. सह आरोपी दीपेश सावंत द्वारा दिये गये बयान के अनुसार वह राजपूत और रिया चक्रवर्ती के निर्देश पर मादक पदार्थ खरीदा करता था. एनसीबी ने तीन दिन की पूछताछ के बाद मंगलवार को रिया को गिरफ्तार कर लिया था जो अभी न्यायिक हिरासत में है. शौविक और सैमुअल मिरांडा को एजेंसी ने पिछले सप्ताह गिरफ्तार किया था.

वकील सतीश मानशिंदे द्वारा दायर अपनी याचिका में रिया चक्रवर्ती ने कहा कि तीन दिन की पूछताछ के दौरान जब वह एनसीबी के समक्ष पेश हुई तो रिया को स्वीकारोक्ति देने के लिए मजबूर किया गया था. हालांकि अभियोजन पक्ष ने दावा किया कि रिया चक्रवर्ती ने मादक पदार्थों को खरीदने और उसका पैसा देने में अपनी संलिप्तता को स्वीकार किया है.

यह भी पढ़ें:BMC ने अमिताभ बच्चन सहित इन रसूखदारों के अवैध निर्माण कर दिए नियमित, नहीं की कोई कार्रवाई!

सबूतों से छेड़छाड़ का डर
एनसीबी ने कहा था कि यदि आरोपियों को जमानत पर रिहा किया जाता है तो वे सबूतों के साथ छेड़छाड़ कर सकते है और मामले के प्रमुख गवाहों को प्रभावित करने की कोशिश कर सकते है. सभी आरोपी इस समय न्यायिक हिरासत में हैं.

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत मामले की तीन संघीय एजेंसियां एनसीबी, प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) और केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) विभिन्न एंगल्स से जांच कर रही है. गौरतलब है कि राजूपत गत 14 जून को बांद्रा स्थित अपने आवास में मृत पाये गये थे.


hindi.news18.com

Leave a Comment