Categories: देश

शाहीन बाग का प्रदर्शन ले डूबा 4 महीने के मासूम की जान, NRC और CAA को दिया दोष

नाजिया (बच्चे की मां) जो पिछले 18 दिसंबर से जहान के साथ शाहीन बाग प्रदर्शन में शामिल हो रही थी ने कहा कि ठंड लगने की वजह से उसके बच्चे की मृत्यु हो गई है। हालांकि, अस्पताल द्वारा जारी किए गए बच्चे की मृत्यु प्रमाण पत्र में मृत्यु का कोई विशेष कारण नहीं बताया गया। शाहीन बाग में अपनी मां के साथ लगभग हर दिन प्रदर्शन में आने वाले 4 महीने के मोहम्मद जहान की ठंड की वजह से मौत हो गई। रात भर भीषण ठंड में अपनी मां के साथ प्रदर्शन में मौजूद होने के चलते मोहम्मद जहान के अत्यधिक ठंड लगने और सांस लेने में तकलीफ की वजह से पिछले सप्ताह मृत्यु हो गई। हालांकि अब भी उसकी मां प्रदर्शन में शामिल हो रही है, क्योंकि उनका कहना है कि, “यह मेरे बच्चों के भविष्य के लिए है।”

मोहम्मद जहान के माता पिता मोहम्मद आरिफ और नाजिया बाटला हाउस इलाके में प्लास्टिक की चादरों और कपड़ों से ढकी एक छोटी सी झोपड़ी में रहते हैं। इनके दो अन्य बच्चे एक 5 साल की बेटी और एक साल का बेटा है।यह दंपत्ति मूलरूप से यूपी के बरेली का रहने वाला है। आरिफ एक कढ़ाई कर्मचारी है और एक ई- रिक्शा भी चलाता है। उसकी पत्नी कढ़ाई के काम में उसकी मदद करती है। मोहम्मद जहान को उसकी मां लगभग हर दिन शाहिनबाग प्रदर्शन में ले जाती थी। वह यहां प्रदर्शनकारियों के लिए पसंदीदा थे। यहां प्रदर्शनकारी उन्हें गोद में लेते थे। उनके गाल पर तिरंगा झंडा भी बनाते थे। बच्चे की मां नाजिया ने कहा कि विरोध प्रदर्शन से लौटने के बाद बीते 30 जनवरी की रात जहान की नींद में ही मौत हो गई। उन्होंने बताया कि मैं शाहीन बाग से लगभग रात 1 बजे लौटीं थीं।

उसके और अन्य बच्चों के सोने के बाद में भी सो गई थी। सुबह मैंने अचानक पाया कि वह कोई प्रतिक्रिया नहीं दे रहा था। उसकी नींद में ही मृत्यु हो गई थी। इसके तुरंत बाद आरिफ और नाजिया उसे अलशिफा अस्पताल ले गए थे। जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया। मोहम्मद जहान के पिता ने कहा कि, “मैं अपने कढ़ाई के काम के अलावा बैटरी रिक्शा चलाने के बावजूद पिछले महीने में पर्याप्त कमाई नहीं कर पाया। अब हमारे बच्चे के निधन की वजह से हम सब कुछ खो चुके हैं। उसने मोहम्मद जहान की एक तस्वीर दिखाते हुए जिसमें उसने ऊनी कैप पहनी है और उस पर लिखा है “आई लव माय इंडिया” यह बात कही।

नाजिया कहा कि उनका मानना है कि CAA और NRC सभी समुदायों के खिलाफ है और वह शाहीन बाग के प्रदर्शन में शामिल होगी। यह उसका अटल फैसला है। लेकिन इस बार अपने बच्चों के बिना। नाजिया ने कहा, “CAAमजहब के आधार पर बांटता है और इसे कभी स्वीकार नहीं करना चाहिए। मुझे नहीं पता है कि इसमें क्या राजनीति शामिल है, लेकिन बस इतना जानती हूं कि जो मेरे बच्चों केभविष्य के खिलाफ है, उस पर में सवाल करूंगी।” आरिफ ने अपने बच्चे की मौत के लिए NRC और CAA को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा, “अगर सरकार NRC और CAA नहीं लाती तो लोग प्रदर्शन नहीं करते और मेरी पत्नी उसमें शामिल नहीं होती और मेरा बेटा जीवित होता।”

Leave a Comment