Categories: न्यूज़

सोहराबुद्दीन को शूट किया फिर उसके नतीजे भुगतने पड़े, हैदराबाद एनकाउंटर पर बोले राजस्थान के मंत्री–

हैदराबाद एनकाउंटर पर सवाल उठाते हुए राजस्थान के यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि आरोपी भाग रहे थे। आप क्या कर रहे थे?
शांति धारीवाल ने कहा कि, “न्याय देना हो तो न्यायपालिका का काम है। शूट में तो जैसे सोहराबुद्दीन को शूट किया। फिर उसके नतीजे भुगतने पड़े।”उनको गिरफ्तार कर न्यायपालिका के सामने प्रस्तुत करना चाहिए था। पुलिस यही कहेगी, मुल्जिम भाग रहा था तो आप क्या कर रहे थे? मुल्जिम को पकड़कर उसकी ट्रायल होगी। उसके बाद सजा मिलेगी। दुष्कर्म के आरोप में फांसी की सजा।

गुजरात के गृहमंत्री हरेन पंड्या की 26 मार्च 2003 को गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्या और उसकी साजिश रचने का आरोपी था सोहराबुद्दीन शेख।घटना के बाद से वह फरार था। उसका साथी तुलसी प्रजापत पकड़ा गया था। अहमदाबाद में राजस्थान और गुजरात पुलिस ने संयुक्त ऑपरेशन करके 2005 में सोहराबुद्दीन शेख को मार गिराया था उसके बाद तुलसी प्रजापत का एनकाउंटर कर दिया गया। 2007 में अहमदाबाद कोर्ट में पेशी पर ले जाते समय तुलसी को उसके साथी छुड़ा कर ले जाने लगे थे। इस दौरान हुई मुठभेड़ में तुलसी मारा गया था।यह मामला बहुत चर्चा में रहा था।

वहीं, राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने हैदराबाद एनकाउंटर पर कहा कि,”कानून का राज स्थापित होना चाहिए।अब एनकाउंटर क्यों हुआ?क्या परिस्थिति थी।वो पुलिस बताएगी। कुछ भी हो रहा अच्छा नहीं हो रहा देश के अंदर।”

गहलोत ने आगे कहा,”सोशल मीडिया के जरिए नई पीढ़ी क्या सीख रही है, रेप और गैंगरेप? रेप पीड़िता को जिंदा जलाया जा रहा है। लंबे अरसे से कहा जा रहा है कि देश में तनाव का, भय का और हिंसा का माहौल है। यही कारण है कि अर्थव्यवस्था बर्बाद हो रही है। सामाजिक ताना-बाना नष्ट हो रहा है।” समय रहते केंद्र सरकार को कुछ करना चाहिए।जैसे माब लीचिंग के बारे में पीएम ने कहा एंटी सोशल एलिमेंट है। यही भावना रखकर पीएम को आगे आना होगा।

Leave a Comment