ऐसा था मनीष पॉल का मुंबई में बेरोजगारी का समय, बुरे समय में पत्नी संयुक्त बनी थी सहारा

टेलीविजन और बॉलीवुड की दुनिया में मनीष पॉल को सभी लोग जानते हैं और उन्हें उनकी कलाकारी के लिए पहचानते हैं। टेलीविजन पर रेडियो जॉकी और वीडियो जॉकी से पहचान बनाने वाले मनीष पौल सबसे पहले स्टैंड अप कॉमेडी किया करते थे। मनीष पॉल के साथ कोई बड़ा नाम नहीं जुड़े होने के कारण उन्हें अपने कैरियर में सफल होने के लिए काफी संघर्ष करना पड़ा। अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए मनीष पॉल ने बताया कि जब कोई नहीं था साथ पत्नी संयुक्ता ने दिया था साथ।


अपने संघर्ष के दिनों को याद करते हुए मनीष पॉल ने बताया कि उनके साथ कोई भी गॉडफादर का नाम नहीं जुड़े होने के कारण उन्हें बॉलीवुड और टेलीविजन में काफी संघर्ष करना पड़ा था। मनीष पॉल वह कलाकार है जो काफी मेहनत और लगन से काम करते हैं लेकिन फिर भी उनके संघर्षों का एक लंबा समय रहा है। एक समय था जब मनीष पॉल ने 1 वर्ष तक आर्थिक तंगी का सामना किया था। इस मुश्किल भरे समय में मनीष पॉल लगातार मेहनत करते रहे और उनकी बीवी संयुक्ता उनके साथ खड़ी रही और हिम्मत देती रही।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maniesh Paul (@manieshpaul)


अपने संघर्षों के दिनों को याद करते हुए मनीष पॉल ने कुछ पुराने अनुभव अपने इंस्टाग्राम पर शेयर भी किये है। उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी संयोगिता पढ़ाई में काफी होशियार थी उन्हें पढ़ने का शौक था। हालांकि मनीष को बचपन से ही एक्टिंग का शौक था इसलिए संयुक्ता से दोस्ती की कभी उनकी हिम्मत नहीं हो पाई। अपनी पत्नी संयुक्ता के साथ उनकी दोस्ती उस समय हुई जब मनीष पॉल संयुक्ता की मम्मी से ट्यूशन पढ़ने जाते थे। तब दोनों के बीच दोस्ती हुई लेकिन जल्द ही कॉलेज में आते ही दोनों अलग हो गए।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maniesh Paul (@manieshpaul)


मनीष पॉल ने संयुक्ता के साथ अपने भविष्य की प्लानिंग को शेयर किया और उन्हें बताया कि वह एक्टर बनना चाहते हैं। संयुक्ता ने भी एक अच्छे दोस्त की तरह मनीष पॉल को सलाह दी कि अगर उन्हें एक्टर बनना ही है तो उन्हें मुंबई जाना चाहिए। मनीष पॉल बताते हैं कि कुछ समय बाद उन्होंने मुंबई की तरफ अपने कदम बढ़ाए और वहां मुंबई आ गए।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sanyukta Paul (@sanyuktap)


मुंबई आने के बाद मनीष पॉल काम की तलाश में लोगों से मिलने लगे लेकिन कई दिनों तक उन्हें काम नहीं मिला। इन मुश्किल भरे दिनों में संयुक्ता ने उनका सच्चे दोस्त की तरह साथ दिया। कुछ समय बाद मनीष पॉल को साल 2006 में रेडियो जॉकी का काम मिल गया तब मनीष पॉल ने संयुक्त को शादी के लिए प्रपोज किया। मनीष पॉल से शादी करने के बाद संयुक्ता भी मुंबई आ गई और एक स्कूल में टीचर की नौकरी करने लगी।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Maniesh Paul (@manieshpaul)


मुंबई आने के बाद संयुक्ता अपने टीचिंग के काम में व्यस्त रहने लगी और मनीष पॉल भी अपने रेडियो जॉकी और वीडियो जॉकी के काम में व्यस्त रहने लगे और दोनों के पास एक दूसरे के लिए समय ही नहीं बचा। लेकिन दोनों ने इस बात का ख्याल रखा कि मुंबई में आगे बढ़ना है तो आपको काम करना है इसलिए दोनों ने अपनी व्यस्तताओं को लेकर कभी शिकायत नहीं की।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sanyukta Paul (@sanyuktap)


मनीष पॉल बताते हैं कि साल 2008 उनके लिए बहुत मुश्किल था इस समय उनके पास कोई काम नहीं था। हालांकि उन्हें मुंबई में आए हुए 2 साल ही हुए थे इसलिए उनके पास ज्यादा सेविंग नहीं थी और थोड़े बहुत पैसे थे वह भी खत्म हो चुके थे। ऐसे में मनीष पॉल के पास घर का किराया देने के भी पैसे नहीं बचे थे। ऐसे मुश्किल समय में उनकी पत्नी संयुक्ता ने उनके घर की जिम्मेदारी ली और हौसले के साथ उन्हें मेहनत करने के लिए कहती रही। मनीष पॉल बताते हैं कि उनकी पत्नी संयुक्ता ने हमेशा उनके मुश्किल समय में साथ दिया और वह कहती थी धीरज रखो सब ठीक होगा और ठीक वैसा ही हुआ भी है।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sanyukta Paul (@sanyuktap)


साल 2009 में मनीष पॉल को कुछ टेलीविजन शो में काम करने का मौका मिला जिसके बाद उन्होंने पीछे मुड़कर नहीं देखा। धीरे धीरे उनकी जिंदगी पटरी पर आने लगी और रियलिटी शो, अवॉर्ड्स नाइट और मूवीस जैसे कई बड़े ऑफर मनीष पॉल को मिले और उन्होंने अपने अभिनय से सभी को अपना दीवाना बनाया। मनीष पॉल और संयुक्ता 2011 में एक खूबसूरत बेटी के माता-पिता बने और उन्होंने अपने बेटी का नाम सायशा रखा। साल 2016 में संयुक्ता ने एक बेटे को जन्म दिया जिसका नाम उन्होंने युवान रखा।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Sanyukta Paul (@sanyuktap)


मनीष पॉल बताते हैं कि आज मेरे पास अपने परिवार के लिए समय है और उन्हें खुश रखने के लिए काम भी है। मनीष पॉल और संयुक्ता के घर में यह नियम है कि रात के खाने के समय कोई भी काम की बात नहीं करता है। मनीष पॉल पुराने दिनों को याद करते हुए भावुक मन से कहते हैं कि वाकई में अगर संयुक्ता मेरी जिंदगी में नहीं होती तो मैं नहीं जानता मेरा क्या होता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *