Categories: राजनीति

दिल्ली में बवाल के बीच पीएम मोदी की "धन्यवाद रैली" आज पुलिस ने लोगों पर लगाई कई पाबंदियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज रामलीला मैदान में दिल्ली विधानसभा का आगाज करेंगें। रविवार को राजधानी में प्रधानमंत्री की “धन्यवाद रैली” आयोजित की गई है। भाजपा ने रैली में करीब डेढ़ लाख लोगों की भीड़ जुटाने का दावा किया है। भाजपा ने राष्ट्रीय राजधानी की 1734 अवैध कालोनियों को नियमित करने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद देने के लिए यह रैली आयोजित की है। “धन्यवाद मोदी रैली” में प्रधानमंत्री दिल्ली विधानसभा के लिए पार्टी के अभियान का बिगुल फूंकेंगे। अनधिकृत कालोनियों की एसोसिएशन के प्रतिनिधियों से भी कार्यकर्ताओं ने संपर्क साधा है। पदयात्रा के दौरान प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी ने कहा कि अनधिकृत कालोनियों के नियमितीकरण से 40 लाख लोगों को उनके घरों का मालिकाना हक देने की दिशा में तेजी से काम किया जा रहा है। 1550 कालोनियों की मैपिंग की जा चुकी है। 1060 कालोनियों को डीडीए की वेबसाइट पर अपलोड किया गया है। 10,000 से ज्यादा लोगों ने डीडीए के पोर्टल पर पंजीकरण कराया है।

प्रधानमंत्री ने अनधिकृत कालोनियों में रह रहे लोगों की पीड़ा समझी और उन्हें नियमित करने का ऐतिहासिक फैसला लिया। भाजपा पदाधिकारियों ने बताया कि कुल 7 सांसदों, 281 मंडल अध्यक्षों, निगम पार्षदों, प्रकोष्ठों के अध्यक्षों को भीड़ जुटाने का लक्ष्य दिया गया है। हर मंडल से कम से कम 500 लोगों को रैली में लाने के लिए पार्टी ने कहा है। पार्टी नेता भारी भीड़ जुटाकर भाजपा के पक्ष में माहौल बनाने की तैयारी में जुटे हैं। दिल्ली के रामलीला मैदान में होने जा रही प्रधानमंत्री की “धन्यवाद रैली” के लिए सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए हैं। रामलीला मैदान पुरानी दिल्ली के दरियागंज से करीब 1 किलोमीटर दूर है। जहां संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ शुक्रवार को प्रदर्शन के दौरान हिंसा हुई थी। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार अर्धसैनिक बलों की 20 कंपनियों को तैनात किया जाएगा। प्रत्येक कंपनी में 70- 80 जवान होते हैं। उन्होंने बताया, “उपायुक्त स्तर के बीस पुलिस अधिकारी मौजूद रहेंगे। दिल्ली पुलिस के 1000 जवान, ड्रोन रोधी टीम और एनएसजी कमांडो भी सभा स्थल की सुरक्षा करेंगे। इलाके में लोगों की आवाजाही पर पाबंदी रहेगी और दुकानें बंद रहेगी।”

रविवार को बहुस्तरीय सुरक्षा रहेगी। रामलीला मैदान जाने वाले सभी मार्गों पर सीसीटीवी कैमरे लगे होंगे और सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए इमारतों पर पर विशेष सुरक्षा कर्मी तैनात रहेंगें। सूत्रों के मुताबिक वरिष्ठ अधिकारियों ने शनिवार को बैठक कर सुरक्षा व्यवस्था पर चर्चा की है। बैठक में अन्य चीजों के अलावा यह फैसला लिया गया है कि अफवाहों पर काबू पाने के लिए सोशल मीडिया की निगरानी की जाएगी। उन्होंने बताया कि असामाजिक तत्वों का राजधानी में प्रवेश रोकने के लिए दिल्ली आने वाले वाहनों की सीमा पर घहन तलाशी ली जा रही है।

Leave a Comment