Categories: देश

राजनीतिक गलियारे में छाया मातम, वरिष्ठ नेता के निधन से पार्टी को लगा झटका

एक बार फिर राजनीतिक गलियारे में मातम छा गया। जब भी किसी बड़े नेता का निधन होता है तो देश को गहरा सदमा लगता है। किसी वरिष्ठ नेता के निधन से पार्टी को भी झटका लगता है। वैसे ये साल शुरू होते ही राजनैतिक क्षेत्र में कई नेताओं के निधन की ख़बरें आ चुकी हैं। आइये आपको बताते हैं इस वरिष्ठ नेता का नाम जिन्होंने इस दुनिया को अलविदा कह दिया हैं। हरियाणा के पूर्व मंत्री और फरीदाबाद से पूर्व सांसद चौधरी खुर्शीद अहमद का निधन हो गया है। मरहूम चौधरी खुर्शीद अहमद लगभग 86 वर्ष के थे और एक समय मेवात की राजनीतिक के महत्वपूर्ण अंग हुआ करते थे।

खुर्शीद अहमद एशियन अस्पताल फरीदाबाद में भर्ती थे। मरहूम चौधरी खुर्शीद अहमद का आज ही अंतिम संस्कार किया जाएगा। वह भारत के सर्वोच्च न्यायालय में एक प्रैक्टिसिंग वकील थे और एक राजनेता भी थे। फरीदाबाद, हरियाणा से संसद सदस्य के रूप में कार्य किया है। वह पंजाब और हरियाणा विधानसभा के लिए पांच बार विधायक रह चुके हैं। खुर्शीद अहमद ने 1961 में फिरदौस बेगम से शादी की। उनके तीन बेटे और 1 बेटी हैं, आफताब अहमद, महताब अहमद, अंजुम अहमद और रुखसाना।

चौधरी खुर्शीद अहमद के पुत्र आफताब अहमद भी 2009 में बनी भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार में परिवहन मंत्री बने थे और वर्तमान में नूंह से विधायक हैं। साथ ही हरियाणा विधानसभा में कांग्रेस विधायक दल के उप नेता हैं। पूर्व मंत्री चौधरी खुर्शीद अहमद के निधन से नूंह के विधायक के परिवार में शोक की लहर दौड़ गई है।

Leave a Comment