कोर्ट में सुनवाई के दौरान फोन बजा, जज ने विधायक को 3 घंटे कस्टडी में बिठाए रखा

असल में हाजी रिजवान समाजवादी पार्टी के विधायक हैं। एडीजे कोर्ट में 12 साल पुराने मामले में तलब किए गए थे। मामला उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले के कुंदरकी का है। जहां सपा विधायक रिजवान को कोर्ट ने 3 घंटे तक इसलिए बिठाया क्योंकि उनके फोन की घंटी बज गई थी। कोर्ट में कोई भी व्यक्ति मोबाइल लेकर प्रवेश नहीं कर सकता। लिहाजा इसे कोर्ट के आदेश की अवमानना माना गया।

हाजी रिजवान 12 साल पुराने मामले के लिए कोर्ट में पेश हुए थे। शनिवार जब एडीजे कोर्ट में सुनवाई चल रही थी इसी बीच विधायक का फोन बज उठा। फोन की घंटी सुनते ही जज साहब बोखला गए। जज ने आदेश देकर रिजवान को 3 घंटे कस्टडी में बिठाए रखा।

रिजवान पर 2017 में वोट डालने का विरोध करने का आरोप था। रिजवान ने विधायक सहित मारपीट कर लोगों से वोट डालने से रोकने के लिए मुकदमा दर्ज कराया था। 2018 से ही विधायक हाईकोर्ट की जमानत से रिहा चल रहे थे। अब जमानत की अवधि बीतने पर हाईकोर्ट ने विधायक को तलब किया था।

Leave a Comment