नवजोत सिंह सिद्धू एक बार फिर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने की कोशिश में

क्रिकेट की दुनिया में सिक्का जमा कर टीवी की दुनिया में कदम जमाने के बाद राजनीति में भी पहचान पाने वाले पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू को लेकर सियासी हलचल तेज हो गई। सिद्धू को लेकर ये खबरें सामने आ रही है कि वे जल्द ही पार्टी को छोड़कर विपक्ष से नाता जोड़ने वाले हैं। नवजोत सिंह सिद्धू भाजपा में शामिल होने की तैयारी कर रहे है, और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह व शिरोमणि अकाली दल के अध्यक्ष सुखबीर बादल के साथ मीटिंग की खबरें लगातार आ रही है। बुधवार को दिनभर सोशल मीडिया पर यह खबरें लगातार वायरल होती रही।

पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के भाजपा में शामिल होने की अटकलों के बीच पत्नी नवजोत सिंह सिद्धू ने शनिवार को स्पष्ट किया है कि उनके भाजपा में शामिल होने की चर्चा महज अफवाह है। पार्टी के एक सीनियर नेता ने बताया कि यह केवल उसी सूरत में हो सकता है। जब भाजपा तय कर ले कि वह शिद्दत के साथ आगे और नहीं चलेगी क्योंकि नवजोत सिद्धू मात्र 23 सीटों के लिए भाजपा मे शामिल नहीं होंगे। नवजोत सिद्धू और शिअद के प्रधान सुखबीर बादल के बीच 36 का आंकड़ा है। सिद्धू के भाजपा छोड़ने का बड़ा कारण भी यही रहा है।

गौरतलब है कि नवजोत सिंह सिद्धू पिछले करीब 6 माह से अपने अमृतसर स्थित घर तक ही सीमित है। अब कयास बाजियों से वह एक बार फिर चर्चा में आ गए। कयास बाजी चल रही है कि नवजोत सिद्धू ने अमित शाह से मुलाकात की है हालांकि इस कथित मीटिंग की न तो भाजपा ने पुष्टि की और ना ही नवजोत सिद्धू ने अपना रुख साफ बताया। नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी ने कहा सिद्धू कोई भी काम किसी से छिप कर नहीं करते वे जब भी भाजपा में जाएंगे, सबको बता कर जाएंगे। मंत्रालय छिन जाने के पश्चात सिद्धू पिछले लंबे समय से चुप्पी साधे हुए हैं। राजनीति क्षेत्र में चर्चा हो रही है कि सिद्धू भाजपा में फिर से शामिल हो सकते हैं।

Leave a Comment