Categories: देश

शाहीन बाग एक संयोग नहीं, बल्कि एक प्रयोग है, सच हो रही नरेंद्र मोदी की कही बात

दिल्ली के जाफराबाद में नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ चल रहे प्रदर्शनों के बीच रविवार को शुरू हुआ हंगामा सोमवार को और हिंसक हो गया। नागरिकता कानून के विरोधियों और समर्थकों के बीच हिंसक झड़पें हुई। जिसमें एक पुलिस कांस्टेबल समेत 5 लोगों की मौत हो गई। कुछ दिन पहले शाहीन बाग में हो रहे विरोध प्रदर्शन पर PM नरेंद्र मोदी ने कहा था कि शाहीन बाग मेंजो हो रहा वह एक मात्र संयोग नहीं बल्कि प्रयोग है जो देश के खिलाफ किया जा रहा है। पिछले 2 दिन से जो हो रहा है उससे उनका कथन बिल्कुल सत्य प्रतीत होता है। भजनपुरा के पास चांद गांव में रतनलाल नाम के हेड कांस्टेबल की मौत हो गई। वहीं मोहम्मद फुरकान की भी गोली लगने से जान चली गई। साथ ही हिंसा में शाहदरा के DCP अमित शर्मा घायल हो गए। इसके साथ करीब 50 पुलिस वालों के घायल होने की खबर है।

CAA समर्थकों और विरोधियों के बीच हुई झड़प को देखते हुए राजधानी के 10 जिलों में धारा 144 लागू कर दी गई है। पुलिस ने बताया कि यह सारी घटनाएं 6 से 8 किलोमीटर के अंदर हुई है। नॉर्थ ईस्ट दिल्ली में 10 जगहों पर पुलिस ने धारा 144 लगाई है। साथ ही जाफराबाद और आसपास के कई मेट्रो स्टेशनों को बंद कर दिया गया है।वही उत्तर-पूर्वी इलाकों में हिंसा के बाद खजूरी खास इलाके में सुरक्षाबलों को तैनात किया गया है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अब तक एक पुलिसकर्मी की मौत की पुष्टि हुई है। 1000 से ज्यादा लोगों का इकट्ठा होना इस बात की ओर इशारा करता है कि यह सुनियोजित साजिश थी। कल दोपहर में कई जगह हालात तनावपूर्ण थे। लेकिन अब स्थिति नियंत्रण में है।

दिल्ली पुलिस के अनुसार आज हुई हिंसा में अब तक कुल 4 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है। जिसमें 3 आम नागरिक और एक पुलिसकर्मी है। दिल्ली पुलिस ने जानकारी दी है कि उत्तर पूर्वी इलाके में हुई हिंसा में पुलिस पर फायरिंग करने वाले व्यक्ति की पहचान शाहरुख के रूप में हुई है और उसकी गिरफ्तारी हो गई है।

स्थिति पर नजर बनाए रखने के लिए सीनियर अधिकारी मौके पर मौजूद हैं। संवेदनशील जगहों पर भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। केंद्रीय अर्धसैनिक बल दिल्ली पुलिस को मुहैया करा दिए गए हैं जो हालात को काबू करने में मदद कर रहे हैं। दिल्ली पुलिस स्थिति को नियंत्रित करने के लिए पूरी कोशिश कर रहा है और लगातार गृह मंत्रालय के संपर्क में हैं। दिल्ली पुलिस कमिश्नर कंट्रोल रूम में भी हालात पर नजर बनाए हुए हैं। इससे पहले जाफराबाद में पुलिस और लोगों के बीच झड़प हुई थी। इसमें उपद्रवी सड़क से हटकर गलियों में पहुंच गए। दुकानों के शटर तोड़े और गली मोहल्लों में कोहराम मचा दिया। यहां लूटपाट की आशंका भी जताई जा रही है। हिंसा के बीच भजनपुरा का पेट्रोल पंप भी आगजनी के हवाले कर दिया। जिसकी तस्वीरें भी सामने आई है। जाफराबाद में महिलाएं धरने पर बैठी हुई है। हिंसा के बीच आम आदमी पार्टी के नेता अमानतुल्लाह खान मौके पर पहुंचे। जाफराबाद मेट्रो स्टेशन के नीचे भारी भीड़ जमा हो गई। जिसे काबू पाने के लिए पुलिस बल मौके पर मौजूद रहा। इसी बीच शाहीन बाग में भी गोलीबारी की घटना सामने आई है।

Leave a Comment