वकील विकास सिंह ने माना कि सुशांत केस में हो गई ये बड़ी गलती, एम्स के खिलाफ खोला मोर्चा

फिल्म स्टार सुशांत सिंह राजपूत के नि धन को करीब 4 महीने पूरे होने को आ रहे हैं। लेकिन अभी तक उनकी मौ त के राज से पर्दा नहीं हट पाया है। सुशांत सिंह राजपूत का परिवार और उनके चाहने वाले लाखों लोग अभी भी एक्टर की मौ त की असली वजह जानने की कोशिशों में जुटे हैं। एम्स की रिपोर्ट के बाद एक बार फिर सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के सब्र का बांध टूट रहा है। हाल ही में एम्स ने अपनी रिपोर्ट सीबीआई को दी है। इस रिपोर्ट में एम्स ने एक्टर की मौ त की वजह वही है जो मुंबई पुलिस ने बताई है। जिससे सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील विकास सिंह भी हैरान है।

advocate vikas singh

प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये खुलासा किया था कि

याद दिला दें कि बीती दफा सुशांत सिंह राजपूत के परिवार के वकील ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये खुलासा किया था कि एम्स के एक डॉक्टर ने खुद उन्हें बताया था कि ये पूरा मामला 200 फीसदी सत्य है। लेकिन जांच रिपोर्ट इस दावे के आगे उलट आई है। ऐसे में वकील विकास सिंह ने सुशांत मामले की जांच में जुटी एम्स की मेडिकल टीम के प्रमुख डॉ. सुधीर गुप्ता पर दोबारा सवाल उठाए हैं।

sushant singh rajput

बीते दिन विकास सिंह ने रिपब्लिक टीवी से बात करते हुए कहा, ‘जब सुशांत की ट्रे जिडी हुई थी। हमने एफआईआर रजिस्टर की थी। उन्होंने ही (डॉ. गुप्ता) ने ही मुझे कॉल किया था। मैंने कहा मैं कोई मदद नहीं चाहता हूं मैं सिर्फ सच जानना चाहता हूं। इसीलिए मैंने मौके पर से सुशांत की बहन मीतू की ओर से क्लिक की गई कुछ फोटोज को उनके साथ शेयर किया।’

sushant singh rajput

वकील विकास सिंह ने इसके आगे कहा, ‘तस्वीरों को देखकर उनती तत्काल और सहज प्रतिक्रिया ये थी कि उनकी मौ त 200% की गयी है।’ वकील विकास सिंह ने दावा किया कि उनकी ये बातें डॉ. सुधीर गुप्ता से हुई थी। हालांकि उन्हें दुख है कि उन्होंने ये बातें रिकॉर्ड नहीं की। विकास सिंह ने माना कि वो इस तरह के व्यक्ति नहीं हैं कि कॉल्स रिकॉर्ड करें लेकिन उन्हें ये करना चाहिए था।

sushant singh rajput

उन्होंने कहा, ‘मैं कॉल रिकॉर्ड करने वाला इंसान नहीं हूं। लेकिन ये जरुर मुझे करना चाहिए था। हालांकि मुझे यकीन है कि जब हम आगे इंटेरोगेशन में जाएंगे तो उनका झूठ सामने आ जाएगा।‘

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *