पहली महिला: पिता की मौत के बाद यह लड़की पहुंचाती है खाना और रात को चलाती है ओला कैब

कोलकाता की रूपा चौधरी एक ऐसी शख्सियत है जिसने जिंदगी में आए तूफान का डटकर मुकाबला किया। पिता की मौत के बाद पति से भी तलाक हो जाने पर भी उन्होंने हार नहीं मानी। रूपा जिंदगी में आई मुसीबतों के बाद भी दिन में Swiggy में बतौर फूड डिलीवरी का काम करती है और रात में पार्ट टाइम के तौर पर ओला कैब भी चलाती हैं।

एक इंटरव्यू में रूपा ने बताया कि पिता की मौत के बाद वह बिल्कुल अकेली पड़ गई थी। उसने अपने जीवन को आगे बढ़ाने के लिए कुछ करने के बारे में सोचा। उसे फूड डिलीवरी Swiggy में काम मिल गया। वह सुबह 8:00 से 5:00 बजे तक Swiggy के लिए फूड डिलीवरी का काम करती है। लेकिन उसके बाद भी समय बच जाता है। घर पर बोर होती है तो उसने शाम को ओला कैब चलाने का फैसला लिया। ओला कैब ओर Swiggy दोनों में काम करने से उसे अच्छी कमाई हो जाती है। आराम से घर खर्च चल जाता है, अच्छा समय भी व्यतीत हो जाता है।

वहीं रूपा के काम से प्रभावित होकर Swiggy ने अपनी कंपनी में 200 महिलाओं को नौकरी देने का निर्णय लिया है। रूपा के इस जज्बे की चारों तरफ प्रशंसा हो रही है। रूपा अपने हक के लिए अपने 10 वर्षीय बेटे को पाने के लिए कानूनी लड़ाई भी लड़ रही है। रूपा पहले कहीं प्राइवेट कंपनी में काम करती थी। लेकिन पिता की तबीयत खराब हो जाने के बाद उसे नौकरी छोड़नी पड़ी। वहीं पिता की मौत के बाद रूपा ने फूड डिलीवरी व ओला कैब चलाने का काम शुरू किया।

Leave a Comment