जब करीना और करिश्मा को बचपन में छोड़ गए थे रणधीर कपूर, मां बबिता ने अपने दम पर की परवरिश

आज बॉलीवुड इंडस्ट्री में अपार सफलता पाने वाली अभिनेत्री करिश्मा कपूर और करीना कपूर के बारे में तो आप अच्छी तरह से जानते हैं। पिछले कुछ समय से करिश्मा कपूर ने बॉलीवुड से जरूर किनारा कर लिया है। लेकिन उन्होंने अपने करियर में कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया है जिनमें राजा हिंदुस्तानी भी शामिल है। लेकिन करीना कपूर अब भी फिल्म इंडस्ट्री में अपनी अदाकारी का जलवा बिखेर रही है।

Babita Kareena Karisma

लेकिन क्या आप जानते हैं जब यह दोनों बहने छोटी थी उस समय कपूर खानदान ने अपनी बहुं बबिता जो कि रणधीर कपूर की पत्नी और करिश्मा और करीना की मां थी। उन्हें दोनों ही बच्ची को पालने के लिए बेसहारा छोड़ दिया था। तो चलो आज इस बात से पर्दा उठाते हैं। और आपको बताते हैं करीना और करिश्मा के बचपन की कुछ यादें।

Randhir kapoor babita daughter

इस बात की जानकारी करीना कपूर में खुद एक इंटरव्यू के दौरान भी है उन्होंने बताया था कि उन्होंने अपने बचपन से लेकर बड़े होने तक अपने पिता को बहुत कम ही देखा है उन्हें उनकी मां ने ही उनके दम पर इतना बड़ा किया और हमें इस काबिल बनाया है। बात की जाए रणधीर कपूर और बबिता की शादी की तो अभिनेता ने फिल्म इंडस्ट्री में अपने कदम रखने के बाद ही साल 1971 को शादी कर ली थी।

randhir kapoor family

बात की जाए अभिनेता रणधीर कपूर के करियर की तो उन्होंने फिल्म ‘कल आज और कल’ से बॉलीवुड में अपने कदम रख दिए थे। इस फिल्म में दोनों ने साथ काम किया था। 1988 में वह घर छोड़कर अपने मां-बाप के साथ रहने चले गए थे। इसके बाद बबिता ने अकेले ही अपनी दोनों बेटी को पाला इतना ही नहीं उनके पास इस दौरान पैसों को लेकर भी काफी ज्यादा समस्या आने लगी थी। इसके लिए उन्होंने कई तरह के बिजनेस करना चालू कर दिए थे।

Babita karisma kareena Kapoor

लेकिन इस विपरीत परिस्थिति में भी कपूर खानदान की और से बबिता को किसी भी तरीके का सहारा नहीं दिया। उन्होंने अकेले ही अपनी दोनों बेटी को पाला और बड़ा किया। इस बात का खुलासा खुद करीना कपूर ने साल 2007 में दिए एक इंटरव्यू के दौरान ही किया। लेकिन उन्होंने बाद में बताया था कि जैसे-जैसे बड़ी होती चली गई उन्हें उनके पिता का प्यार भी मिलना चालू हो गया इतने दिन दूर रहने के बाद भी उनके माता-पिता ने कभी तलाक का नहीं सोचा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *