मोदी सरकार ने पूरा किया सुषमाजी का वादा: मंगल पर भी देंगे मदद, वुहान से निकाले गए भारतीय

चीन में कोरोना वायरस के प्रकोप को झेलते हुए चीन के वुहान से 600 से ज्यादा भारतीयों को सुरक्षित निकाला गया है। इस सफल इवेक्युएशन के बाद पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के ट्वीट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो गया है। सुषमा ने उस ट्वीट में कहा कहा था कि अगर कोई मंगल पर भी फंस गया होगा तो वहां भी भारतीय दूतावास उसकी मदद करेगा। आपको बता दें कि वुहान से भारतीय छात्रों के साथ मालदीव के भी सात नागरिकों को भारत ने निकाला है।

सुषमा जी का करीब 3 साल पुराना ट्वीट रविवार को उस समय चर्चा में आ गया। जब उनके जूनियर और विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने बॉस के ही अंदाज में बयानबाजी जारी की। एस. जयशंकर ने नई दिल्ली में आयोजित तमिल एसोसिएशन प्रोग्राम में कहा, “दुनिया के किसी भी हिस्से में अगर किसी भारतीय को तकलीफ होगी तो हम उसकी देखभाल करेंगे।” विदेश मंत्री ने आगे कहा, “मैं इस बात को बहुत ही गर्व के साथ कह सकता हूं कि सरकार में हमने एक ऐसा सिस्टम तैयार कर लिया है। जिसमें हम हर भारतीय के लिए हर पल मौजूद है। लोग पूरे आत्मविश्वास के साथ हमारे पास आ सकते हैं, अगर उन्हें कुछ भी हुआ है तो हम उन तक जरूर पहुंचेंगे।”

एस. जयशंकर ने कहा कि आज लोगों में ऐसी भावना है कि हमारे लोग हमारी जिम्मेदारी है और हम उनकी देखभाल करके जिम्मेदारी को पूरा करेंगे। वुहान से शुक्रवार और शनिवार को एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट से 647 भारतीयों को निकाला गया है। इनमें से 7 नागरिक मालदीव के भी है। 11 मिलियन की आबादी वाले वुहान से जब भारतीय दूतावासों के बाद छात्रों को निकाल रहे थे। पाकिस्तान के छात्र उसका वीडियो बना रहे थे। आपको बता दें कि पाक ने अपने नागरिकों को निकालने से मना कर दिया है और जो वीडियो सामने आया है उसमें छात्र अपनी सरकार को जमकर कोस रहे हैं।

सुषमा स्वराज का जो ट्वीट वायरल हो रहा है, वह जून 2017 का है। इस ट्वीट में करन सैनी नामक यूजर ने सुषमा को टैग किया था। करण ने लिखा था, “मैं मंगल पर फंस गया हूं, मंगल यान के जरिए मुझे जो खाना पहुंचाया गया था वह खत्म हो गया? अब मंगलयान पर कब भेजा जाएगा? सुषमा ने इसका जवाब अपने ही अंदाज में दिया था। सुषमा ने करन को जवाबी ट्वीट में लिखा, अगर आप मंगल पर भी फंस गए हैं, तो वहां भी भारतीय दूतावास आपकी मदद करेगा।” पूर्व विदेश मंत्री के ट्वीट की जमकर तारीफ़ हुई थी। सुषमा के ट्वीट को करीब 20,000 बार रिट्वीट किया गया और करीब 39,000 लोगों ने उसे लाइक किया था।

Source Google

अगस्त 2019 में सुषमा स्वराज का लंबी बीमारी के बाद देहांत हो गया था। वह मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में कैबिनेट की उन कुछ चुनिंदा मंत्रियों में शामिल थीं। जिन्होंने लोगों के बीच काफी लोकप्रियता हांसिल की थी। सुषमा ने पिछले वर्ष मार्च में चुनाव लड़ने का ऐलान करके अपने प्रशंसकों को खासा निराश किया था।

Leave a Comment