धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार हुआ भारतीय क्रिकेटर पूर्व कप्तान के नाम पर ऐंठ चुका है लाखों रुपए

आंध्र प्रदेश के पूर्व रणजी क्रिकेटर बी नागराजू को धोखाधड़ी करने के आरोप में पुलिस ने गिरफ्तार किया है। स्पॉन्सरशिप को लेकर लोगों को ठगने के मामले में भारतीय क्रिकेटर को सेंट्रल क्राइम स्टेशन ने गिरफ्तार कर लिया है। उन पर आंध्र प्रदेश के मंत्री तारक रामाराव के पीए के नाम पर एक निजी कंपनी के CMD के पैसे लेने का आरोप लगा है। ज्वाइंट कमिश्नर अविनाश मोहंती ने कहा कि नागराजू ने खुद को रामा राव का पीए बताया था।

पुलिस के अनुसार आरोपी ने पीड़ित को बताया कि बी नागराजू नाम का एक खिलाड़ी IPL में फ्रेंचाइजी के चुने जाने के अलावा इंग्लैंड में होने वाले वर्ल्ड कप के लिए संभावित 25 की टीम में भी चुने गए हैं और वह इस स्पॉन्सर को खोज रहे हैं। पिछले साल नागराजू ने MSK प्रसाद की आवाज की नकल करके एक से 2 लाख 88 और एक अलग कंपनी से 3 लाख 88 हजार की ठगी की थी। वहीं विजयवाड़ा पुलिस के भी वह हत्थे चढ़ चुका है। 2018 में उसने एन गोपाल को ठगा था। नागराजू ने उनसे विशाखापट्टनम में धोनी क्रिकेटर एकेडमी लगाने के नाम पर ठगी की थी।

इसके बाद पीड़ित को बताया कि यदि उनकी कंपनी नागराजू को स्पाॅन्सर करती है तो उनके कंपनी का लोगों खिलाड़ी के किट पर छपवाया जाएगा और पीड़ित उनकी इस चाल में फंस गया और उन्होंने आरोपी के अकाउंट में 3 लाख 30 हजार रुपये ट्रांसफर कर दिए। हालांकि उन्हें सच्चाई जानने में ज्यादा समय नहीं लगा। जैसे ही उन्हे आरोपियों की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो उन्हें शक हुआ और उन्होंने पुलिस में शिकायत दर्ज करवा दी।

इसके बाद पुलिस ने बैंक जानकारी के अलावा कॉल डिटेल के मदद से आरोपी को गिरफ्तार किया। हालांकि नागराजू धोखाधड़ी के मामले में पहली बार गिरफ्तार नहीं हुए। पिछले साल BCCI के मुख्य चयनकर्ता MSK प्रसाद के नाम पर उसनेे ठगी की थी और आंध्रप्रदेश पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

Leave a Comment