Categories: न्यूज़

अंजलि पिचाई के कारण ही सुंदर पिचाई बन पाएं गूगल के CEO, वजह जानकर चौंक जायेंगे आप

सुंदर पिक्चर का जन्म 1972 में भारत के तमिलनाडु राज्य के एक मध्यम श्रेणी परिवार मैं हुआ था। पिचाई के पिता एक ब्रिटिश कंपनी में इंजीनियर थे। उनकी मां स्टेनोग्राफर की नौकरी करती थी। पिचाई का क्रिकेट से खासा लगाव था। वह अपने स्कूल की हाईस्कूल टीम के कप्तान थे, पिचाई की कप्तानी मैं उनकी टीम ने तमिलनाडु में क्षेत्रीय टूर्नामेंट जीता था।

दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनी गूगल के CEO सुंदर पिचाई की इस सफलता के पीछे कई राज छुपे उनमें से एक है उनकी पत्नी अंजलि। अंजलि ने ही सुंदर को सलाह दी थी कि वह गूगल से इस्तीफा न दें जिसके बाद वह CEO बने। अंजली का जन्म 5 नवंबर 1972 को कोटा में हुआ था। मूल रूप से राजस्थान की कोटा की रहने वाली है अंजलि। सुंदर और उनकी पत्नी कॉलेज में एक ही बेच के थे। अंजलि और सुंदर पिचाई ने IIT खड़गपुर से पढ़ाई की। अंजलि ने IIT से मेटसर्जिकल इंजीनियरिंग में डिग्री ली।

फाइनल ईयर में पिचाई ने अंजलि को प्रपोज किया था, जिसके बाद उन्होंने अपने लांग- टाइम गर्लफ्रेंड से शादी करली। अंजली केमिकल इंजीनियर है। एक दौर था जब सुंदर के पास पैसे नहीं थे तो 6 महीने तक गर्लफ्रेंड से बात नहीं की थी। इस स्थिति में भी अंजलि ने सुंदर का साथ नहीं छोड़ा। आज सुंदर की कामयाबी के पीछे अंजलि का बड़ा हाथ है। वह साल 2011 था जब सुंदर को ट्विटर से नौकरी का ऑफर आया था। समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करें, क्या न करें। तभी अंजलि ने गूगल न छोड़ने की सलाह दी उसके बाद 2015 में वह गूगल का CEO बनाया गया। आज सुंदर गूगल का जाना माना चेहरा है। उन्होंने 2004 में गूगल की नौकरी शुरू की थी 15 साल के कैरियर में सुंदर ने गूगल में कई बदलाव होते हुए देखें। आज लोग अंजलि को सुंदर का लकी चार्म कहते हैं। दोनों के दो बच्चे (एक बेटी और एक बेटा) है।

इसे भी पढ़े :-

Leave a Comment