24.8 C
India
Monday, September 20, 2021

क्या आपने देखी है किसी राजनेता की पूजा होते, देखिये यहाँ होती है इंदिरा गाँधी की पूजा मानते है देवी समान

आपने आजतक हर धर्म के लोगो को अपने इष्ट की पूजा,इबादत या प्रार्थना करते हुए देखा और सुना होगा,लेकिन क्या आपने कभी किसी राजनेता की पूजा होते हुए देखी है ? नहीं ना,आज हम आपको एक ऐसी ही शख्सियत के बारे में बताने जा रहे है जो एक राजनेता तो है ही लेकिन एक गांव के लोग उनकी भगवान की ही तरह पूजा भी करते है। उन शख्सियत का नाम है इंदिरा गाँधी। इंदिरा गाँधी ही वो शख्सियत है जिनकी पूजा गांव के लोगो द्वारा की जाती है।

- Advertisement -

Indira Gandhi Temple 2

ये कहानी है मध्यप्रदेश के एक इलाके की जहां के आदवासी पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी की पूजा करते है। उन्हें देवी का रूप मानते है। यहाँ पर उन लोगो ने एक प्रतिमा स्थापित की है जो हूबहू इंदिरा गांधी की तरह ही दिखती है ऐसा लगता है मानो इंदिरा गाँधी स्वयं यहाँ पर मूर्त रूप में खड़ी हो। ये मंदिर खरगोन जिले के झिरनिया क्षेत्र में पड़लिया नाम का एक गांव है जहाँ ये मूर्ती स्थापित है और इंदिरा गाँधी का मंदिर बना हुआ है। यहाँ पर सभी आदिवासी लोग रहते है। यहाँ पर इंदिरा गाँधी की एक बहुत ही बड़ी मूर्ती बनायीं गयी है और उसे मंदिर में स्थापित किया गया है।

ये मंदिर की बनावट भी काफी आकर्षक बनायीं गयी है। यहाँ की दीवारों पर तिरंगा बनाया गया है। पूरी दीवारों पर हिंदुस्तान के ध्वज के तीनो रंगो को उकेरा गया है। वहीँ इंदिरा गाँधी की मूर्ती पर भी तीन रंगो की बॉर्डर की प्रिंट वाली साड़ी पहनायी गयी है। आपको बतादे की ये मंदिर का निर्माण 14 अप्रैल 1987 को करवाया गया था। बताया जाता है की इस मूर्ती को जयपुर से मंगवाया गया था।

Indira Gandhi Temple 1

यहाँ के लोगो की माने तो आदिवासियों के कुछ रीती रिवाजो में ऐसा माना जाता है की जब भी कोई स्त्री का अकाल निधन हो जाता है। तो वह लोग उन्हें सती का दर्जा देते है। ऐसा ही कुछ देश की पूर्व प्रधानमंत्री का निधन भी कुछ इसी तरह से हुआ था इसलिए इन आदिवासियों ने उन्हें सती का दर्जा देकर इंदिरा गाँधी की प्रतिमा स्थापित की थी। इसके बाद से ही लगातार यहाँ के लोगो द्वारा उस मूर्ती की पुजा पाठ की जाती है इंदिरा गाँधी को अगरबत्ती भी लगायी जाती है।

इतना ही नहीं जब कोई नेता और बड़ा अधिकारी भी यहाँ पर दौरे पर आता है तो वो भी इंदिरा गाँधी की पूजा किये बिना यहाँ से नहीं जाता है। यहाँ के निवासियों का कहना है की उनके क्षेत्र में जब भी कोई बड़ा आयोजन या कोई कार्यक्रम होता है तो मंदिर में पूजा तो करते ही है लेकिन उसके साथ ही इंदिरा गाँधी के मंदिर में जाकर भी उनकी मूर्ति की पूजा की जाती है। इतना ही नहीं जब किसी की शादी होती है और वो सबका आशीर्वाद लेने निकलते है तो अन्य देवी देवताओ के साथ साथ इंदिरा गाँधी का भी आशीर्वाद लेकर उनकी पूजा की जाती है।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

112,451FansLike
1,152FollowersFollow
13FollowersFollow

Latest Articles

error: Content is protected !!