पैसा कमाने से ज्यादा खुशी देता है व्यायाम करना !

कसरत हमारे शरीर और दिमाग के लिए जरूरी है। यह हमें उतनी ही खुशी देती है, जितनी पैसे कमाकर मिलती है। येल और ऑक्सफोर्ड यूनिवसिर्टी के शोधकर्ताओं ने 12 लाख लोगों पर किए अपने एक शोध में दावा किया है कि रोजाना कसरत पैसे कमाने से भी ज्यादा खुशी देती है।शोधकर्ताओं के अनुसार यह खुशी लगभग 17 लाख रुपए कमाने के बराबर होती है। शोध में यह भी पता चला कि शारीरिक रूप से सक्रिय लोग अपने बारे में उतना ही अच्छा
महसूस करते थे, जितना एक साल में साढ़े 17 लाख रुपए कमाने वाले लोग।

कई कारकों को ध्यान में रखा गया

पत्रिकालैंसेट में प्रकाशित शोध में शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों से उनकी आय के बारे में पूछकर उन्हें 75 तरह की शारीरिक गतिविधियों में से अपनी पसंदीदा गतिविधि चुनने को
कहा। इनमें लॉन की सफाई से लेकर बच्चों की देखभाल, साइकिलिंग, वेट लिफ्टिग और दौड़ना शामिल था। साथ ही प्रतिभागियों से कई अहम सवाल भी पूछे गए थे जैसे पिछले 30
दिनों में उन्होंने खुद को कितना थका हुआ महसूस किया, चाहे यह थकान तनाव, अवसाद या किसी और समस्या की वजह से हुई हो।

ज्यादा थका हुआ महसूस होता है व्यायाम न करने पर

शोधकर्ताओं ने पाया कि रोजाना कसरत करने वालों लोगों ने खुद को एक साल में करीब
35 दिन तक थका हुआ महसूस किया, जबकि कसरत न करने वालों को 58 दिन तक थकान महसूस हुई। येल यूनिवर्सिटी के एडम चेकराउंड कहते हैं, हालांकि हद से ज्यादा
कसरत करने का स्वास्थ्य पर उलटा असर भी पड़ सकता है, क्योंकि शारीरिक गतिविधि एक सीमित समय तक ही हमारी दिमागी स्वास्थ्य को बेहतर बना सकती है, जैसे हफ्ते में
30 से 60 मिनट तक के तीन से पांच ट्रेनिंग सेशन।

तीन घंटे से अधिक कसरत नुकसानदायक

तीन घंटे से ज्यादा वक्त तक कसरत करने वाले प्रतिभागियों का मूड कम सक्रिय रहने
वालों से भी बुरा था। जिन कसरत को करने से लोगों का मूड अच्छा होता, उनमें एरोबिक्स, साइकिलिंग और जिम गतिविधियां शामिल थीं। इसलिए लोगों को अपने आप को बेहतर बनाए रखने के लिए मनपसंद कसरत करनी चाहिए।

Tags: exercise
Leave a Comment