26.7 C
India
Wednesday, September 22, 2021

संघर्ष के दिनों में भगवान के नाम का सहारा लेकर ऑडिशन देने जाया करते थे पंकज त्रिपाठी, दिलचस्प किस्सा

मनोरंजन दुनिया में कदम रखने के बाद बहुत से कलाकार ऐसे रहे जिन्हें हर रोल में लोगों द्वारा काफी जाना पसंद किया गया मैं ही एक नाम आता है मिर्जापुर के कालीन भैया पंकज त्रिपाठी का बता दें कि इंडस्ट्री में कदम रखने के बाद पंकज त्रिपाठी उन कलाकारों की गिनती में शुमार हुए जिन्होंने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और अपनी तक के करियर में एक से बढ़कर एक फिल्में और वेब सीरीज में काम किया है। पंकज त्रिपाठी एक ऐसे कलाकार हैं जिन्हें हर रोल में लोगों द्वारा काफी ज्यादा पसंद किया जाता है।

- Advertisement -

pankaj tripathi mridula tripathi lovestory

साल 1976 में बिहार के छोटे से गांव बेलसंद गोपालगंज में जन्मे पंकज त्रिपाठी आज अपना 45 वां जन्मदिन सेलिब्रेट कर रहे हैं तो चलो उनके जन्मदिन के मौके पर उनके जीवन से जुड़ी कुछ ऐसी बातें आपको बताते हैं। लेकिन आज सफलता की बुलंदियों को छूने वाले पंकज पार्टी के लिए इंडस्ट्री में इतनी बड़ी पहचान बनाना आसान नहीं था उन्होंने अपने जीवन में काफी कुछ संघर्ष किया है तब जाकर भी इतने बड़े मुकाम पर पहुंचने में सफल रहे हैं।

पंकज त्रिपाठी कर बताते हैं कि उनके जीवन में ऐसा समय भी आया जब भगवान का नाम लेकर काम किया करते थे। हालांकि कलाकार को अभिनय का शौक बचपन से ही था यही कारण था कि उन्होंने यूनिवर्सिटी में पढ़ाई करते समय नाटक में जाया करते थे। पंकज त्रिपाठी काफी पढ़े-लिखे कलाकार है उन्होंने पटना से होटल मैनेजमेंट की डिग्री ली है। लेकिन उनकी किस्मत में और कुछ भी लिखा हुआ था जो उन्हें मायानगरी मुंबई ले आए बता दें कि साल 2004 में पंकज त्रिपाठी मुंबई आए लेकिन इस दौरान उनके पास केवल 46 हजार रुपए जिसमें उन्हें आगे बढ़ा संघर्ष करना था।

मुंबई आने के बाद पक्का त्रिपाठी ने काफी संघर्षों का सामना किया कई दिनों तक उन्होंने पापड़ मिले लेकिन उन्हें आसानी से काम नहीं मिल पा रहा था। इंटरव्यू के दौरान पंकज त्रिपाठी ने आपने संघर्ष के दिनों के बारे में बताते हुए कहा था कि जिस समय में मुंबई में एक्टिंग करने आए थे। उस समय कलाकार की फोटो देखकर उन्हें ऑडिशन के लिए बुलाया जाता था। उस दौर में कास्टिंग डायरेक्टर नहीं हुआ करते थे ऐसे में किसी सेठ से जुड़े व्यक्ति से संपर्क रखना पड़ता था लेकिन पंकज त्रिपाठी भी जुगाड़ इंसान थे।

लंबे समय तक उन्हें काम नहीं मिला तो उन्होंने भगवान का सहारा लिया और वह हर जगह ऑडिशन में जाते और वहां कहते थे कि उन्हें भगवान ने भेजा है। उन्होंने भगवान का सहारा लेते हुए ऑडिशन देने के लिए टिकट हासिल कर ली थी। काफी समय तक ऐसे ही संघर्ष चलता रहा और उन्हें आखिरकार अभिषेक बच्चन के साथ फिल्म ‘रन’ में अपना अभिनय दिखाने का मौका मिला। लेकिन उनको बड़ी पहचान फिल्म ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ ने दिलवाई इसके बाद उन्होंने एक के बाद एक के सुपरहिट फिल्म की इतना ही नहीं हो गई वेब सीरीज में भी नजर आ चुके हैं। पंकज त्रिपाठी आज इंडस्ट्री का बहुत बड़ा नाम है।

- Advertisement -

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Stay Connected

112,451FansLike
1,152FollowersFollow
13FollowersFollow

Latest Articles

error: Content is protected !!