Categories: राजनीति

अजित पवार को चक्की पिसवा रहे थे देवेंद्र फडणवीस, आज उन्हीं की मदद से दोबारा बने सीएम

सोशल मीडिया में 2014 का एक वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें बीजेपी नेता देवेंद्र फडणवीस चुनाव प्रचार के दौरान यह कहते हुए नजर आ रहे हैं कि अगर महाराष्ट्र में हमारी सरकार बनती है तो अजित पवार जेल में चक्की पिसेगें। विधानसभा चुनाव में जनादेश मिलने के एक महीने बाद तक किसी ने उम्मीद नहीं की होगी कि महाराष्ट्र की राजनीति इस तरह से करवट लेगी और भाजपा के देवेंद्र फडणवीस एनसीपी के विधायक दल के नेता और शरद पवार के भतीजे अजीत पवार के समर्थन से मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

महाराष्ट्र में नाटकीय घटनाक्रम के तहत बीजेपी के नेता देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री और अजीत पवार ने उप मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ले ली है। महाराष्ट्र की सियासत में रातो रात बड़ा उलटफेर होने के बाद सोशल मीडिया पर कई पुराने वीडियो वायरल हो रहे हैं। इसी क्रम में देवेंद्र फडणवीस का एक पुराना वीडियो बहुत शेयर किया गया है। जिसमें 2014 में देवेंद्र फडणवीस ने अजित पवार की काफी आलोचना की। इसी बीच अजित पवार के गेम से फडणवीस फिर से सीएम बन गए हैं।
2014 के विधानसभा चुनाव के दौरान देवेंद्र फडणवीस ने चुनावी भाषण के दौरान यह बयान दिया था कि सिंचाई घोटाले में अजित पवार ने क्या किया। वायरल वीडियो में देवेंद्र फडणवीस कहते दिख रहे हैं कि अजित दादा चक्की पिसिंग पिसिंग एंड पिसिंग करेंगे।

2014 विधानसभा चुनाव के वक्त देवेंद्र फडणवीस ने यह ट्वीट किया था कि “बीजेपी कभी भी एनसीपी के साथ गठबंधन नहीं करेगी। ऐसी अफवाहें उड़ाई जा रही है”। इस ट्वीट को काफी लोग शेयर कर रहे हैं।

भाजपा ने अजीत को जेल का डर दिखा कर लिया समर्थन
पार्टी के प्रमुख प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने शनिवार को प्रेस कांफ्रेस में कहा कि भाजपा व अजीत पवार ने राज्य की जनता के जनादेश का चीरहरण किया है। आरोप लगाया कि केंद्र सरकार ने अजीत पवार को जेल का डर दिखाकर समर्थन देने पर मजबूर किया। महाराष्ट्र में बदले सियासी घटनाक्रम से हतप्रभ कांग्रेस ने भाजपा पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाया है। 23 नवंबर का दिन देश के इतिहास में काले दिन के रूप में दर्ज होगा। एक वीडियो क्लिप जारी कर कहा कि फडणवीस ने अजित पवार पर 72 हजार करोड़ के कथित कृषि घोटाले में जेल भेजने का वादा किया था, लेकिन अचानक उन्हें जेल के बजाय मंत्रालय भेज दिया। सुरजेवाला ने राजभवन की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि इतनी क्या जल्दी बाजी थी कि मुख्यमंत्री को चोरी छुपे शपथ दिलाई और उसमें प्रदेश के मुख्य न्यायाधीश और नेताओं तक को आमंत्रित नहीं किया गया।

महाराष्ट्र में अजित पवार के समर्थन में मुख्यमंत्री के तौर पर एक बार फिर भाजपा के देवेंद्र फडणवीस ने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। राकांपा नेता अजित पवार ने यहां राजभवन में उप मुख्यमंत्री की शपथ ली। जहां केवल आधिकारिक मीडिया ही मौजूद रही। फड़नवीस ने कहा,

“लोगों ने हमें स्पष्ट जनादेश दिया था। शिवसेना ने नतीजों के बाद अन्य दलों के साथ गठबंधन करने की कोशिश की। जिसके बाद राष्ट्रपति शासन लगाया गया। महाराष्ट्र को “खिचड़ी” सरकार नहीं बल्कि स्थिर सरकार की जरूरत है।”

पिछले महीने हुए विधानसभा चुनाव में कुल 288 सदस्यीय सदन में बीजेपी के हिस्से 105 सीटें आई थी जबकि शिवसेना को 56 राकांपा को 54और कांग्रेस 44 सीट मिली।

Leave a Comment