गौ-माता ने अपनी जान कुर्बान कर बचायी हजारो जवानो की जान, बीच में नही आती तो होता बड़ा हादसा

माओवादियों ने IED प्लांट किया हुआ था। लेकिन जवानों के वहाँ से गुजरने से पहले वहां से एक गाय गुजर गई और इस ब्लास्ट में गौमाता की जान चली गई की। लेकिन गौमाता ने अपनी जान कुर्बान करके उन जवानों की जान बचा ली IED प्लांट किया गया था जवानों के लिए आपको बता दें कि यह घटना बीजापुर के गंगालूर थाना क्षेत्र के बुरजी के जंगलों की है, जहां पर माओवादियों ने पेट्रोलिंग करने वाले जवानों पर हमला करने के उद्देश्य से IED प्लांट कर दिया था।

लेकिन उनका यह उद्देश्य कतः ही सफल नहीं हो पाया, क्योंकि जवानों के गुजरने से पहले ही वहां से एक गाय गुजर गई। उस गाय के पैर के नीचे एक बम पड़ा था, जिससे वहां पर जोरदार ब्लास्ट हो गया और इसमें गाय की मौत हो गई कहा जा रहा है कि गाय के गुजरने से कुछ समय पहले ही जवानो का वहां से गुजरना तय हुआ था लेकिन उससे पहले ये हादसा हो गया और ऐसे में जवानो की जान बच गई।

आपको बता दें कि ऐसी घटनाएं अक्सर वहां के जंगलों में होती रहती है। अक्सर माओवादियों और नक्सलियों द्वारा जवानों को नुकसान पहुंचाने के उद्देश्य से कई प्लान बनाए जाते हैं और ऐसे प्लान की चपेट में आकर कई बार वहां के ग्रामीण और पालतू जानवर अपनी जान गंवा बैठते हैं। गाय को हिन्दू धर्म में भी काफी ज्यादा मान्यता दी जाती है और अब लोग कह रहे है कि एक माँ ने अपनी जान देकर के भी अपने इन जवानो की जान बचा ली है। खैर इसमें उनकी जान जरुर चली गयी और ये अपने आप में बहुत ही ज्यादा दुखद जरुर है।

Leave a Comment