अयोध्या मंदिर भक्त कर रहा है दिन रात काम, 4 हजार ईंटों पर लिख चूका है श्री राम का नाम

अयोध्या के तकपुरा निवासी ईंट भट्टा मालिक संदीप वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट का फैसला आते ही राम मंदिर निर्माण के लिए 51 हजार अव्वल दर्जे की ईंटें नींव भरने के लिए दान करने का ऐलान किया है। संदीप ने बताया कि जिस जगह पर राम नाम की ईंटें बन रही है वहां जूता चप्पल पहन कर जाना वर्जित है। भट्टे पर ईंटें बनाने का काम जोर शोर से चल रहा है । अब तक लगभग 4 हजार ईंटें बनकर तैयार हो चुकी हैं। हर ईंट पर राम का नाम लिखा जाएगा। भट्टा मालिक संदीप ने कहा, “कुल 106 मजदूर मेहनत और समर्पण के साथ ईंट निर्माण में लगे हैं। ईंटों की पवित्रता बनाए रखने के लिए जूते भी पहनकर नहीं बना रहे हैं। इन ईंटों को खासतौर पर दोमट मिट्टी से बनाया जा रहा है इसे बनाने के बाद इनका वजन लगभग 3 किलो होगा।”

राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले के बाद अब राम भक्तों में मंदिर निर्माण के लिए बेचैनी बढ़ गई है। भक्त भी राम निर्माण पर टकटकी लगाए बैठे हैं। कहा भी जाता है कि भक्त और भगवान का ताल्लुक सदियों से चला आ रहा है। आस्थावान भक्त हमेशा भगवान के प्रति समर्पण व्यक्त करते हैं।

सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या में 1992 में विध्वंस से पहले खड़े बाबरी मस्जिद पर विवादित भूमि को लेकर 70 साल से चली आ रही कानूनी लड़ाई को 2 नवंबर को खत्म कर दिया था। मुख्य न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली पांच जजों की बेंच ने रामलला के पक्ष में फैसला दिया। इसके तहत पूर्व विवादित 2.7 एकड़ भूमि ट्रस्ट के पक्ष में सौंपने को कहा। इस ट्रस्ट को सरकार बनाएगी और इस भूमि पर राम मंदिर का निर्माण होगा।

Leave a Comment