दो बड़े स्टार्स से पैसे उधर लेकर बोनी कपूर ने बनाया अनिल कपूर को हीरो, पढ़े पूरा मामला

आपने हमेशा ही सुना होगा कि एक सफल इंसान के पीछे किसी ना किसी अच्छे इंसान का हाथ होता है। यह हम आपको इस लिए बता रहे हैं कि आज जिस कलाकार की हम बात करने जा रहे हैं। वे आज तो बॉलीवुड इंडस्ट्री में बहुत बड़ा नाम है। लेकिन जब उन्होंने अपने करियर को फिल्मों में बनाने की शुरुआत की थी। उस समय उन्हें काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा था।

Anil Kapoor

दरअसल, हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार अनिल कपूर की जो हिंदी सिनेमा में लगभग चार दशकों से काम करते आ रहे हैं। इस दौरान उन्होंने एक से बढ़कर एक सुपरहिट फिल्मों में काम किया। उनकी अदाकारी को पहले से भी ज्यादा आज पसंद किया जाता है। वहीं फिल्म राम लखन का गाना माय नेम इस लखन आज भी लोगों की जुबां पर बना रहता है।

इतना ही नहीं वे इतने ज्यादा उम्र के हो चुके हैं इसके बाद भी उनका शरीर कभी ज्यादा फिट है। इसलिए भी वे अक्सर चर्चाओं में रहते हैं। लेकिन आज इतने एसो आराम की जिंदगी जीने वाले अनिल कपूर को यहां तक पहुंचने के लिए इन कलाकारों ने उनका बहुत साथ दिया था। जिनकी बदौलत वे आज बॉलीवुड के दिग्गज कलाकार हैं।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by anilskapoor (@anilskapoor)


बता दें कि अभिनेता अनिल कपूर का संबंध शुरुआत से ही फिल्मों से रहा है। क्योंकि उनके पिता एक फिल्म निर्देशक थे। लेकिन उनको इस बात का कभी भी कोई फायदा नहीं मिल पाया। वहीं जब अनिल कपूर पढ़ाई कर रहे थे। उन दिनों उनके पिता को अचानक हार्ट अटैकआ गया। इसके बाद उन्होंने पढ़ाई छोड़ दी।

और अपने बड़े भाई बोनी कपूर को असिस्ट करना शुरू कर दिया। वहीं इसके बाद भी उनकी फिल्मों की चाह खत्म नहीं हुई। और वे लगातार प्रयास करने लगे। इसके लिए उन्होंने पूना फिल्म इंस्टीट्यूट में एडमिशन लेना चाहा लेकिन ऑडिशन में रिजेक्ट हो गए। फिर क्या था उन्होंने इसके बाद कई फिल्मों में छोटे रोल करना चालू कर दिया। वहीं जब उन्हें फिल्म में काम करने का मौका मिला तो वे ऑडिशन में ही फैल हो गए।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by anilskapoor (@anilskapoor)


अनिल कपूर की लाइफ में इतना कुछ होने के बाद भी उन्होंने हिम्मत नहीं आ रही और लगातार फिर वह में आने के लिए प्रयास करते रहे जिसके बाद उन्हें बतौर हीरो पहली फिल्म ‘वो सात दिन’ मिली लेकिन यहां भी उनकी राह में रोड़ा आ गया। और इस फिल्म को पूरा करने के लिए कभी परेशानी आई। लेकिन इस दौरान अनिल कपूर का साथ संजीव कुमार और शबाना आज़मी ने दिया।

लेकिन इस फिल्म को पूरा करने के लिए भी अनिल कपूर को कई पापड़ बेलने पड़े। क्योंकि जिस फिल्म में उनको हीरो बनाया जा रहा था। वहीं उस तमिल फिल्म का हिंदी रीमेक उनके भाई बोनी कपूर बनाने की तैयारी में थे। लेकिन इसके लिए उन्हें काफी पैसों की आवश्यकता थी और उनकी घर की आर्थिक स्थिति इतनी अच्छी नहीं थी कि वह इस फिल्म को पूरा करने के लिए पैसे लगा सकें बता दें कि उन्हें इस दौरान 75 हजार रुपए की आवश्यकता पड़ी जो उस समय काफी ज्यादा थे।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by anilskapoor (@anilskapoor)


अनिल कपूर की इस परेशानी को दूर करने के लिए शबाना आज़मी और संजीव कुमार ने मिलकर बोनी कपूर को 50 हजार रुपए दिए थे और बाकी के पैसों का इंतजाम दोनों भाइयों ने मिलकर किया इस तरह अनिल कपूर ने बतौर हीरो अपनी पहली फिल्म बनाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *