दिव्यांग की कला को देख भावुक हुए बिग-बी, बोले KBC में बुलाऊंगा – भावुक कर देंगी तस्वीरें

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अमिताभ बच्चन को लेकर फैंस की दीवानगी अक्सर देखने को मिलती है। हाल ही में मध्य प्रदेश के धार के रहने वाले 22 वर्षीय दिव्यांग आयुष कुंडल ने पैरों से अमिताभ बच्चन की पेंटिंग बनाकर उनकी तस्वीर ट्विटर पर शेयर की। अमिताभ इसे देख इतने खुश हुए कि उन्होंने अपने खर्च पर आयुष और उसके पूरे परिवार को मुंबई बुला लिया। साथ ही उन्होंने यह पेंटिंग 50 हजार रूपये में खरीद ली। करीब आधे घंटे की मुलाकात के बाद पूछा आपकी क्या इच्छा है। बेटे के इशारों को मां सरोज ने अमिताभ को समझाया की हॉट सीट पर बैठना चाहता है। अमिताभ बोले कौन बनेगा करोड़पति के सीजन-12 में आपको अतिथि बनाएंगे। यह सुन आयुष बहुत खुश हुआ। आयुष सेरेब्रल पाल्सी से ग्रसित है। जन्म से ही न तो ठीक से बैठ सकता है, न ही बोल सकता है और न ही चल सकता है। हाथ और पैर भी ठीक तरीके से काम नहीं करते। इतना शारीरिक कष्ट झेलने के बाद भी अपने पैरों से आयुष एक मंझे हुए चित्रकार की तरह हुए पेंटिंग बनाता है।

दरअसल, आयुष पिता पीयूष कुंडल मूल रूप से बड़वाह के रहने वाले हैं। वे 2 महीने पहले अपने मामा जनता कॉलोनी धार निवासी संजय शर्मा के यहां आए थे। तब कौन बनेगा करोड़पति का 11वां सीजन चल रहा था। इसी पर आयुष ने एक पेंटिंग बनाई और 10 जनवरी को अपने ट्विटर पर इसे पोस्ट किया। पेंटिंग वायरल होते हुए अमिताभ बच्चन फ्रेंड्स ग्रुप मुंबई तक पहुंच गई। यह ग्रुप अमिताभ से जुड़ी अच्छी बातें उन तक पहुंचाने का काम करता है। ग्रुप सदस्यों ने आयुष की पेंटिंग अमिताभ को दिखाई। इसके बाद अमिताभ ने 12 जनवरी को पेंटिंग फेसबुक पर पोस्ट करते हुए आयुष से मिलने की इच्छा जताई। इसके बाद 3 फरवरी को मुलाकात हुई। आयुष के मामा संजय ने बताया कि अमिताभ द्वारा आयुष से मिलने की इच्छा जताने के बाद हमें मुंबई से फोन आया। हम फ्रॉड काॅल समझ रहे थे, लेकिन जब दोबारा अमिताभ जी के स्टाफ ने हमें पूरी बात बताई तो यकीन हुआ। आयुष सहित पिता पीयूष, मां सरोज, मामा संजय और पड़ोसी जितेंद्र सुराणा मुंबई गए। पूरा खर्च अमिताभ जी ने ही उठाया।

अमिताभ ने कहा दिव्यांगता के बावजूद आयुष के पैर से पेंटिंग बनाने का जज्बा प्रशंसनीय है। साथ ही औरों के लिए भी प्रेरणादायक है। मैं आयुष के जज्बे की कद्र करता हूं। मां ने बताया जन्म से ही आयुष दिव्यांग है। वह बोल नहीं सकता, हाथ पैर भी काम नहीं करते पर कोशिश कर वह पैरों से पेंटिंग बनाता है। 30 मिनट की मुलाकात में मां सरोज ने आयुष की बातें अमिताभ को समझाई।आयुष ने अपनी 10 पेंटिंग भी बिग बी को दी। अमिताभ की पेंटिंग बनाने में 8 दिन का समय लगा। वह रोज 2 घंटे पेंटिंग बनाने में देता था। आयुष अपने पैरों से बहुत सुंदर पेंटिंग बनाते हैं। अब तक वह 100 से ज्यादा पेंटिंग्स बना चुके हैं। उनकी पेंटिंग्स देखकर हर कोई दंग रह जाता है। आयुष की मां का कहना है कि उनके बेटे का सपना प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी मिलना है।

Leave a Comment