Categories: राजनीति

आखिर अमित शाह ने फिर कर दिया वह ऐलान, जिसका पूरे देश के मुस्लिम कर रहे थे इंतजार

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह उड़ीसा के भुवनेश्वर में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने विपक्षी पार्टियों पर दंगे फैलाने का आरोप लगाया। उनकी इस रैली में काफी सारे मुस्लिम समाज के लोग भी मौजूद थे और अमित शाह ने उन्हें संबोधित करते हुए कहा कि किसी भी हाल में देश के एक भी मुसलमान की नागरिकता CAA के कारण नहीं जाने देंगे। उन्होंने अपनी बात फिर से दोहराई कि यह बिल नागरिकता छीनने के लिए नहीं है, बल्कि देने के लिए बनाया गया है। उड़ीसा में गृह मंत्री अमित शाह ने CAA को लेकर विपक्ष पर निशाना साधा। अमित शाह ने CAA के मुद्दे पर देश भर में चल रहे विरोध पर विपक्षी दलों को आड़े हाथों लेते हुए कहा, “कांग्रेस, ममता दीदी, सपा, बसपा यह सारे लोग CAA का विरोध कर रहे हैं। वह कह रहे हैं कि इससे अल्पसंख्यकों के नागरिक अधिकार चले जाएंगे। अरे इतना झूठ क्यों बोलते हो? मैं आज फिर से कहना चाहता हूं कि CAA से देश के एक भी मुसलमान, एक भी अल्पसंख्यक का नागरिकता अधिकार नहीं जाने वाला है।CAA नागरिकता लेने का कानून है ही नहीं, बल्कि नागरिकता देने का कानून है।”

शाह ने एक बार फिर जनता को आश्वस्त करते हुए कहा कि किसी को भ्रम है कि CAA से किसी की नागरिकता चली जाएगी तो उन्हें यह समझ लेना चाहिए कि यह नागरिकता देने का कानून है, नागरिकता लेने का नहीं। उन्होंने कहा पड़ोसी देशों के अल्पसंख्यक समुदाय के लोगों का वहां शोषण होता है। उन्हें परेशान किया जाता है। वह यहां भाग कर आते हैं। उन्हें नागरिकता नहीं मिलती। उन देशों से प्रताड़ित होकर स्वधर्म बचाने के लिए भारत आए लोगों को CAA के माध्यम से नागरिकता दी जाएगी। शाह ने आरोप लगाया कि CAA को लेकर कांग्रेस और विपक्षी दल भ्रम फैला रहे हैं। उन्होंने कहा जवाहरलाल नेहरू और सरदार पटेल जैसे नेताओं ने जो वादा किया था, केंद्र की मोदी सरकार उस वादे को पूरा कर रही है। उन्होंने विपक्षी दलों को चुनौती देते हुए कहा कि वह बताएं कि CAA के किस क्लाॅज में नागरिकता लेने की बात है। उन्होंने कहा कि विपक्ष भ्रम फैला कर दो समुदायों में विभेद पैदा कर रहा है।

जहां एक और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह नागरिकता बिल लेकर अपने आलोचकों के निशाने पर आए हुए हैं। वहीं दोनों इस बिल को किसी भी कीमत पर वापस लेने को तैयार नहीं है। BJP नेताओं के अनुसार नागरिकता बिल को लेकर अल्पसंख्यकों में भ्रम फैलाया जा रहा है और उसे ही हिंसा का आधार बनाकर दिल्ली में आगजनी जैसी घटनाएं करवाई गई। राजधानी दिल्ली में नागरिकता के बिल के विरोध में और समर्थन में हो रही हिंसा में अब तक 42 लोगों की मौत हो चुकी है और अभी यह दर्दनाक सैलाब काफी हद तक कम हो गया है। BJP और आम आदमी पार्टी दोनों मिलकर इस समस्या का समाधान ढूंढने में लगे हुए हैं। दिल्ली में हिंसा मामले में दिल्ली पुलिस ने सख्त कार्यवाही करते हुए अभी तक 600 से ज्यादा लोगों को गिरफ्तार किया और वीडियो फुटेज के आधार पर अपराधियों की पहचान की जा रही है।

राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल ने हिंसा प्रभावित इलाकों का जायजा लिया। लोग बोले आप आ गए, हम लोगों में हिम्मत आ गई। अजीत डोभाल ने सीलमपुर, डीसीपी ऑफिस में आला अफसरों के साथ बैठक की। बैठक में दिल्ली पुलिस के विशेष आयुक्त एसएन श्रीवास्तव सहित कई आला अफसर मौजूद थे। बैठक के बाद अजीत डोभाल वहां स्थानीय नागरिकों से मिले। उन्होंने महिला से बात करते हुए कहा कि,”प्रेम की भावना बनाकर रखिए। हमारा देश भारत एक है, हम सबको मिलकर रहना है, देश को मिलकर आगे बढ़ाना है।” इस दौरान वहां मौजूद लोगों ने कहा कि, “आप आ गए हैं, हमें कोई टेंशन नहीं है। आप आ गए हम लोगों में हिम्मत आ गई।” डोभाल ने इस दौरान कहा कि हालात पूरी तरह काबू में है। उन्होंने लोगों से बात करते हुए कहा कोई भी तकलीफ हो तो हमें बताइए। यहां पूरी की पूरी फोर्स आप लोगों के लिए तैनात हैं। अजीत डोभाल ने कहा प्रधानमंत्री और गृहमंत्री अमित शाह के हुक्म से ही हम यहां पहुंचे हैं। आप लोगों को अब चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं पूरे इलाके में घूमा। लोग एकता चाहते हैं, लोग शांति चाहते हैं।

इससे पहले अजीत डोभाल ने कहा, “मैं आश्वासन देता हूं कि कानून का पालन करने वाले किसी भी नागरिक को कोई भी किसी भी तरह की हानि नहीं पहुंचा पाएगा। पर्याप्त बल तैनात है। किसी को डरने की जरूरत नहीं है। लोगों को वर्दीधारियों पर भरोसा करना होगा।” इस बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पहली बार दिल्ली हिंसा पर ट्वीट करते हुए लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की है। पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा, “दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों में जो हालात है उस पर विस्तृत समीक्षा की जाए। पुलिस और अन्य एजेंसियां शांति बहाल सुनिश्चित करने के लिए काम कर रही है। उन्होंने एक और अन्य ट्वीट में कहा, मैं सभी भाई बहनों से अपील करता हूं कि शांति और भाईचारा बनाए रखें।”

Leave a Comment