90 के दशक में इस गाने ने तोड़ दिए थे सारे रिकॉर्ड, एक रात में ही बिकी थी 70 लाख कैसेट!

हिंदी सिनेमा में रिलीज होने वाली हर फिल्म का गानों के साथ चोली दामन जैसा साथ रहा है। बॉलीवुड इंडस्ट्री में रिलीज होने वाली हर फिल्म में गाने देखने को जरूर मिल जाते हैं बहुत कमी ऐसा होगा जब किसी फिल्म में गाने ना लेकिन शायद ऐसी फिल्म आपने आज तक नहीं देखी हो जिसमें आपको गाने सुनने को ना मिले क्योंकि अधिकतर फिल्मों को लेट साबित करने में गानों का भी हम योगदान रहा है।

Altaf Raja 1

आज के दौर में सभी लोग फ्री समय में गाना सुनना बेहद ज्यादा पसंद करते हैं इसके लिए वो लाखों रुपए खर्च भी करते हैं। बता दें कि आज मार्केट में ऐसे कई साउंड सिस्टम मौजूद है जिनमें गाने सुनने के बाद अलग ही अनुभूति होती है। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे हिंदी गाने के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसको आपने अपनी जिंदगी में कई बार सुना होगा। लेकिन इस गाने के पीछे जो रिकॉर्ड बना है उससे आप अब तक अवगत नहीं होंगे।

Altaf Raja

लेकिन क्या आप जानते हैं इस गाने ने रिलीज होने के बाद एक ऐसा रिकॉर्ड बनाया था। उसे आज भी कोई नहीं तोड़ पाया है बता दें कि 90 के दशक में रिलीज हुआ। गाना ‘तुम तो ठहरे परदेसी’ जो की मशहूर गायक अल्ताफ राजा द्वारा गाया गया था। उस दौर में इस गाने की इतनी ज्यादा पॉपुलरटी थी कि हर व्यक्ति की जुबां पर यही गाना गुनगुनाया जाता था। इतने सालों बाद भी लोग इस गाने को आज भी सुनना काफी ज्यादा पसंद करते हैं।

लेकिन क्या आपको पता है इस गाने को लेकर इन लोगों में इतना ज्यादा जुनून पैदा हो गया था कि एक रात में ही 70 लाख से ज्यादा कैसेट इस गाने की बिक गए थे। दुकानों पर लंबी-लंबी लाइन लगी रहती थी एक समय ऐसा भी आ गया था जब दुकानों पर इस गाने की कैसेट मौजूद नहीं हुआ करती थी तो लोग दूसरे शहरों में जाकर इस गाने की कैसेट लेकर आया करते थे। बता दें कि यहां गाना 1997 रिलीज हुआ था।


अल्ताफ राजा के गाने का जुनून लोगों के दिलों दिमाग पर इस कदर छाया हुआ था कि 7 महीने तक हर गली मोहल्ले नुक्कड़ सब दूर बस एक ही गाना सुनाई देता था तुम तो ठहरे परदेसी साथ क्या निभाओगे लोगों का इस कदर जुनून देखकर अल्ताफ राजा भी मैं हैरान रह गए। उन्होंने भी कभी उम्मीद नहीं लगाई थी कि उनके द्वारा गाया जाने वाला यहां गाना रिकार्डों की झड़ी लगा देगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *