पेट भरने के लिए तपती धुप में कंधे पर बेटी को लिये पेन बेचता पिता, किसी ने ले ली तस्वीर और बदल गयी जिंदगी

एक व्यक्ति जिसका नाम अब्दुल है, वह अपने बेटी को कंधे पर टांगे हुए इस तपती धूप में पेन बेचने की कोशिश कर रहा है और जिस किसी ने भी इस तस्वीर को देखा तो उसका ह्रदय पसीज गया।

इस समय सीरिया में गृह युद्ध बढ़ता जा रहा है, जिस कारण वहां पर रहने वाले लोगों की जिंदगी में उथल-पुथल मची हुई है। इस गृह युद्ध को देखकर लोग अपने देश को छोड़कर दूसरे देश में पलायन कर रहे हैं। लेबनान के शहर बेरूत में कई ऐसे सीरियन रिफ्यूजी है जो सड़कों पर रहने को मजबूर है। ऐसा ही हुआ सीरिया के रिफ्यूजी के साथ देश के बाहर निकलने के बाद वह बेटी के साथ लेबनान के बेरूत में आ गए और अपने जीवन यापन के लिए सड़कों पर पेन बेचकर पैसा कमाते थे। लेकिन एक तस्वीर की वजह से पूरी किस्मत ही बदल गई है ।

Source Google

अब्दुल अपनी बेटी को कंधे पर लेकर पेन बेचने वाली तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद, नार्वे के एक पत्रकार ने अब्दुल के लिए पैसे जुटाने के लिए ट्विटर पर एक अकाउंट बनाकर लोगों से $5000 जुटाने का टारगेट रखा। टारगेट का समय पूरा होने पर देखा कि उस अकाउंट में 12500000 की सहायता प्राप्त हुई। जिसके बाद पत्रकार ने पैसा अब्दुल को ले जाकर दे दिया ।

Source Google

अब्दुल ने अपने आप ही पैसे की अहमियत को समझते हुए बिजनेस करना उचित समझा। उसने एक दुकान खोल ली साथ ही उसने 16 रिफ्यूजियो को अब्दुल के यहां काम भी दे दिया। लेबनान में अभी भी लगभग 12 लाख रिफ्यूजी रह रहे हैं, जो सड़कों पर रात गुजार कर दिन में छोटा काम करके अपना पेट भरने को मजबूर है। लोगों के द्वारा मदद करने के बाद आज वह बिजनेसमैन बन गए हैं। आज उनके पास 2 बैडरूम का अपार्टमेंट है जहां पर अपनी बेटी रीम और बेटे अब्दुल्लाह के साथ ही रहते हैं।

और भी पढ़े:-

Leave a Comment