Categories: देश

हैवानियत की हद: 90 साल की बुजुर्ग महिला के साथ दिल्ली में बलात्कार, उठने लगी फांसी की मांग Delhi-Ncr News in Hindi

महिला की आवाज सुनकर गांव के कुछ लोगों को पता चल गया और उसकी मदद के लिए पहुंचे.

दिल्ली पुलिस (Delhi Police) ने इस मामले में सेक्शन 376/323 IPC के तहत FIR दर्ज की है. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी का नाम सोनू है और उसकी उम्र 33 वर्ष है.

नई दिल्ली. नज़फगढ़ के छावला इलाके (Chhawla Area) में एक दिल दहला देने वाली घटना सामने आई है. एक 90 वर्षीय बुजुर्ग महिला के साथ बलात्कार (Rape) कर मारपीट की गई. बुज़ुर्ग महिला के अनुसार शाम के करीब 5 बजे अपने घर के बाहर दूध वाले के इंतजार कर रही थी, उसी वक्त एक अनजान व्यक्ति ने उन्हें आकर कहा कि दूधवाला आज नहीं आया है और वो उन्हें दूध वाले के पास ले जाएगा. व्यक्ति बुज़ुर्ग महिला को लेकर रेवला खानपुर फार्म ले गया और वहां महिला के साथ जबरदस्ती कर बुरी तरह से बलात्कार किया. जब महिला ने अपना बचाव करना चाहा तो उनके साथ मारपीट भी की गई. महिला बहुत दर्द में रोती रही और उस आदमी से रहम की भीख मांगती रही. उसे याद दिलाती रही की वो उसकी दादी के उमर की है पर उसने एक न सुनी.

90 साल की बुजुर्ग महिला के साथ रेप
महिला की आवाज सुनकर गांव के कुछ लोगों को पता चल गया और उसकी मदद के लिए पहुंचे. लोगों ने आरोपी को धर दबोचा और पुलिस को बुलाया. पुलिस द्वारा महिला के बेटे को भी बुलाया गया. वहां से पीड़िता को अस्पताल ले जाया गया और मेडिकल जांच कराई गई. महिला की MLC रिपोर्ट से कई चोटों की जानकारी मिलती है. महिला की मेडिकल जांच रिपोर्ट में साफ तौर से उनके शरीर और गुप्त अंगों पर चोटों की बात दर्ज है.

दिल्ली पुलिस ने मामले में सेक्शन 376/323 IPC के तहत FIR दर्ज की है. (फाइल फोटो)

दिल्ली पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने मामले में सेक्शन 376/323 IPC के तहत FIR दर्ज की है और आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी का नाम सोनू है और उसकी उम्र 33 वर्ष है और वो गांव रेवला खानपुर का रहने वाला है.

ये भी पढ़ें: केजरीवाल ने लॉन्च किया ऑनलाइन उपभोक्ता शिकायत सिस्टम, अब घर बैठे ऐसे करें शिकायत

बुजुर्ग महिला से मिली दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा
दिल्ली महिला आयोग की टीम घटना की सूचना मिलने के वक्त से ही पीड़ित महिला के साथ है और उनकी मदद कर रही है. आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल और मेम्बर वंदना सिंह ने मंगलवार शाम को महिला से उनके घर पर जाकर मुलाकात की. महिला से मिलने के बाद स्वाति मालिवाल ने कहा, ‘6 महीने की बच्ची से लेकर 90 वर्ष की बुज़ुर्ग महिला तक कोई भी सुरक्षित नहीं है. इस उम्र में इस महिला को इस प्रकार की प्रताड़ना का सामना करना पड़ा. ये साफ दिखाता है ये कि इन घटनाओं को अंजाम देने वाले लोग इंसान नहीं जानवर हैं. मैं इन बुज़ुर्ग महिला से मिली हूं और इनको न्याय दिलवाने की जंग में हम इनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर साथ चलेंगे! हर हाल में इस केस में 6 महीने में फांसी होनी ही चाहिए!’


hindi.news18.com

Leave a Comment