Categories: देश

स्कूली शिक्षा पर दो दिवसीय सम्मेलन आयोजित करेगा शिक्षा मंत्रालय, प्रधानमंत्री करेंगे संबोधित

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 11 सितंबर को सम्मेलन को संबोधित करेंगे (File Photo)

New Education Policy 2020: शिक्षकों को सम्मानित करने और नई शिक्षा नीति 2020 को आगे बढ़ाने के लिए 8 सितंबर से 25 सितंबर तक शिक्षक पर्व मनाया जा रहा है.

नई दिल्ली. केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय (Ministry of Education) शिक्षक पर्व (Education Fest) के तहत 10 और 11 सितंबर को ऑनलाइन माध्यम से ‘21वीं सदी में स्कूल शिक्षा’ पर दो दिवसीय सम्मेलन आयोजित कर रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) 11 सितंबर को इसे संबोधित करेंगे. मंत्रालय के बयान के अनुसार, सम्‍मेलन के पहले दिन, प्रधानाचार्यों और शिक्षकों पर ध्यान केन्‍द्रित किया जाएगा जो 21वीं सदी में स्कूल शिक्षा के बारे में चर्चा करेंगे और बतायेंगे कि उन्होंने रचनात्मक तरीकों से नई शिक्षा नीति के कुछ विषयों को पहले से ही कैसे लागू किया है.

इसमें कहा गया है कि राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता शिक्षक (National Award Winning Teachers) और शिक्षा में रचनात्मकता अपनाने वाले अन्य शिक्षक इस सम्मेलन का हिस्सा होंगे. मंत्रालय के बयान के अनुसार, प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी 11 सितंबर को सम्मेलन को संबोधित करेंगे. इससे पहले प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 7 अगस्त को ‘राष्ट्रीय शिक्षा नीति के तहत उच्च शिक्षा में परिवर्तनकारी सुधार पर सम्‍मेलन में उद्घाटन भाषण दिया था.

दो दिन की जाएगी चर्चा
बयान के अनुसार, स्कूली शिक्षा के लिए नई शिक्षा नीति की कुछ महत्वपूर्ण विषय वस्‍तुओं को स्‍पष्‍ट करने के लिए विशेषज्ञ शिक्षकों द्वारा दो दिन चर्चा की जाएगी. माईजीओवी पर प्राप्त शिक्षकों के कुछ सुझाव भी साझा किए जाएंगे.गौरतलब है कि शिक्षकों को सम्मानित करने और नई शिक्षा नीति 2020 को आगे बढ़ाने के लिए 8 सितंबर से 25 सितंबर तक शिक्षक पर्व मनाया जा रहा है.

इसके तहत मंत्रालय नई शिक्षा नीति और इसके कार्यान्वयन पर वेबिनार की एक श्रृंखला आयोजित कर रहा है.

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के शिक्षकों, प्राचार्यो को दिए पुरस्कार
वहीं केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने स्कूली शिक्षा में उल्लेखनीय योगदान के लिये सीबीएसई से संबद्ध स्कूलों के 38 शिक्षकों एवं प्राचार्यों को बुधवार को पुरस्कार प्रदान किया. सीबीएसई द्वारा इस वर्ष सम्मानित किये जाने वाले शिक्षकों एवं प्राचार्यों ने छात्रों को राष्ट्रीय स्तर के खिलाड़ी के रूप में प्रशिक्षित करने, छात्रों की भाषायी क्षमता का उन्नयन करने, निशक्त बच्चों की बेहतरी के लिये काम करने, साइबर सुरक्षा के प्रति छात्रों को जागरूक बनाने सहित कई अन्य प्रकार के कार्यक्रम चलाये.


hindi.news18.com

Leave a Comment